POLITICS

ब्रिटिश पुलिस के पास पहुंचे मेहुल के वकील, यूनिवर्सल ज्यूरिडिक्शन के तहत किडनैपिंग की जांच करने की गुहार

  1. Hindi News
  2. अंतरराष्ट्रीय
  3. ब्रिटिश पुलिस के पास पहुंचे मेहुल के वकील, यूनिवर्सल ज्यूरिडिक्शन के तहत किडनैपिंग की जांच करने की गुहार

चोकसी की बचावपक्ष की टीम में शामिल पोलाक ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मीडिया से बातचीत में कहा कि मेट्रोपॉलिटन पुलिस के पास यातना, युद्ध अपराध और नरसंहार की जांच के लिए एक इकाई है।

4 जून 2021 को डोमिनिका के रोसेउ की एक अदालत में पेश भगोड़ा हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी। (File Photo: AP/Clyde Jno Baptiste)

लंदन में भगोड़े हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी की कानूनी टीम ने “सार्वभौमिक अधिकार क्षेत्र” प्रावधान के तहत मेट्रोपॉलिटन पुलिस से संपर्क करके एंटीगुआ और बारबुडा से उसका कथित अपहरण पड़ोसी डोमिनिका में किये जाने की जांच करने का अनुरोध किया है। यह जानकारी वकील माइकल पोलाक ने दी। पोलाक ने कहा कि चोकसी को एंटीगुआ और बारबुडा से हटा दिया गया जहां उसे एक नागरिक के रूप में नागरिकता और प्रत्यर्पण के मामलों में ब्रिटिश प्रिवी काउंसिल से संपर्क करने का अधिकार प्राप्त थे जबकि डोमिनिका में उसे यह अधिकार उपलब्ध नहीं है।

उन्होंने कहा कि ब्रिटेन की अदालतों और ब्रिटेन की पुलिस के पास ऐसे मामलों की जांच करने का “सार्वभौमिक अधिकार क्षेत्र” है, जहां भी वे होते हैं। चोकसी की बचावपक्ष की टीम में शामिल पोलाक ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मीडिया से बातचीत में कहा कि मेट्रोपॉलिटन पुलिस के पास यातना, युद्ध अपराध और नरसंहार की जांच के लिए एक इकाई है, जहां कहीं भी वे होते हैं। पोलाक ने कहा कि मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने कहा है कि वे यह देखने के लिए एक जांचकर्ता को भेजेंगे कि क्या हुआ है।

उन्होंने कहा, “प्रक्रिया मेट्रोपॉलिटन पुलिस के पास है और हम उन्हें अपनी जांच करने देंगे। हम कहते हैं कि इस मामले में यातना के सबूत हैं।” पोलाक ने इसके संकेत तो दिये, लेकिन यह नहीं कहा कि इसमें भारतीय एजेंसियों का हाथ है। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि मकसद वास्तव में खुद ही बोलता है। यह देखना बहुत महत्वपूर्ण बात है। भारत निश्चित तौर पर चोकसी को भारत ले जाने का प्रयास करना चाहता है। यह तथ्य कि डोमिनिका में एक भारतीय विमान था, यह दिखाता है कि वहां क्या हो रहा था।” पोलाक ने आरोप लगाया है कि अपहरण में शामिल लोगों ने अप्रैल में इसका पूर्वाभ्यास किया था।

अपहरण के प्रयास का विवरण देते हुए, पोलाक ने कहा कि 23 मई को चोकसी को फुसलाकर एयर बीएनबी आवास ले जाने वाली बारबरा जबरिका ने विशेष रूप से उसके मालिक से पूछा था कि क्या उसके पीछे में एक छोटी नौका खड़ी करने की जगह है। जबरिका और संपत्ति के मालिक के बीच बातचीत दिखाते हुए पोलाक ने कहा कि उसने नावों के लिए डॉकिंग जगह के बारे में पुष्टि मिलने के बाद दो आस-पास की संपत्तियों को लेने पर चर्चा की थी।

पोलाक ने आरोप लगाया कि एक संपत्ति का इस्तेमाल उसके साथ के उन लोगों ने किया जो अपहरण टीम का हिस्सा थे। वकील ने दावा किया कि अपहरण के तुरंत बाद, जबरिका शाम 7.26 बजे एक निजी विमान में एंटीगुआ और बारबुडा से डोमिनिका के लिए रवाना हो गई। पोलाक ने शिकायत में कथित तौर पर जबरिका के अलावा गुरदीप बाथ, गुरजीत सिंह भंडाल और गुरमीत सिह का नाम भी लिया है। बाथ और भंडाल क्रमश: सेंट किट्स के नागरिक हैं जबकि सिंह एक भारतीय नागरिक हैं जो ब्रिटेन में रहता है।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: