POLITICS

बिहार: मैं चोरों का सरदार

जगदानंद सिंह ने कहा कि कृषि मंत्री ने किसानों के लिए आवाज उठाई है, लेकिन आवाज उठाने के साथ-साथ बलिदान भी देना पड़ता है, इस कारण सुधाकर सिंह ने कृषि मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है।

बिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने नीतीश कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है। कृषि विभाग में चोर होने का बयान देने के बाद उनके नीतीश कुमार से मतभेद सार्वजनिक रूप से सामने आए थे। सुधाकर सिंह बिहार आरजेडी के अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बेटे हैं। जगदानंद ने कहा कि कृषि मंत्री ने किसानों के लिए आवाज उठाई है, लेकिन आवाज उठाने के साथ-साथ बलिदान भी देना पड़ता है, इस कारण सुधाकर सिंह ने कृषि मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है।

सुधाकर सिंह आरजेडी कोटे से नीतीश कैबिनेट में शामिल हुए थे। वह जिस बयान को लेकर चर्चा में आए थे, उसमें उन्होंने कहा कि कृषि विभाग में कई चोर लोग हैं, इतना ही नहीं उन्होंने अपने आप को उन चोरों का सरकार करार दिया था। उन्होंने आगे यह भी कहा था कि उनके ऊपर भी और कई सरदार मौजूद हैं।

उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि सरकार बदल गई, लेकिन अभी सब वैसा ही चल रहा है। मंत्री ने नीतीश सरकार पर फिर से हमला करते हुए कहा कि किसानों को राहत देने के नाम पर बिहार स्टेट सीड कोर्पोरेशन ने 200 करोड़ रुपए का गबन किया है।

उनके इस बयान पर नीतीश कुमार ने सुधाकर सिंह को नसीहत दी थी कि उन्हें ऐसे बयान देने से बचना चाहिए। नीतीश ने उनसे बयान पर स्पष्टीकरण मांगा था, जिसके जवाब में सुधाकर सिंह ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है।

कौन हैं सुधाकर सिंह

सुधाकर सिंह बिहार की रामगढ़ सीट से आरजेडी कि विधायक हैं। वह बिहार आरडजेडी के अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बेटे हैं। उन्हें नई सरकार में कृषि मंत्रालय दिया गया था। राजद के टिकट से चुनाव लड़ने से पहले साल 2010 में सुधाकर सिंह भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़े थे। उस साल वह आरजेडी की उम्मीदवार अंबिका सिंह से हार गए थे। इसके बाद वह साल 2020 में रामगढ़ सीट से विधायक बने। सुधाकर सिंह ग्रेजुएट हैं और उनकी उम्र 44 साल है। राजनीति में आने से पहले वह खेती किया करते थे।

बता दें कि 2010 के चुनाव में आरजेडी सुधाकर सिंह को रामगढ़ विधानसभा सीट से चुनाव लड़वाना चाहती थी, लेकिन जगदानंद सिंह ने इसका विरोध किया था। उन्होंने परिवारवाद का विरोध करते हुए उस साल अपने बेटे को आरजेडी का टिकट नहीं लेने दिया था। इस वजह से सुधाकर बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़े थे।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: