LATEST UPDATES

बिहार में आदिवासी युवती की रेप के बाद हत्या:चार दिन पहले सिपाही भर्ती की परीक्षा देने गई थी; गांव से दूर नहर में अर्धनग्न हालत में लाश मिली

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

  • बगहा में आदिवासियों ने दो घंटे बवाल किया, SP को भगाया

पश्चिम चंपारण के बगहा में 20 वर्षीय आदिवासी युवती की अर्धनग्न लाश मिलने के बाद हंगामा हो गया। उरांव जनजाति की यह युवती 14 मार्च को सिपाही बहाली का एग्जाम देने बेतिया गई थी। वापसी के समय वह गायब हो गई। आज गुरुवार की सुबह उसकी लाश त्रिवेणी नहर में तैरती हुई मिली थी। अंदेशा है कि जिस ऑटो से वह लौट रही थी, उसके चालक द्वारा ही रेप के बाद हत्या की गई और शव को नहर में फेंक दिया गया।

पोस्टमार्टम के लिए बगहा लाए जाने के बाद उरांव समुदाय के हजारों लोग अनुमंडल अस्पताल के सामने जमा हो गए। पुलिस प्रशासन के खिलाफ खूब नारेबाजी की। इस दौरान बगहा SP किरण कुमार गोरख जाधव और SDM को भीड़ से बचकर निकलना पड़ा। यह हंगामा करीब दो घंटे तक चला। भीड़ की वजह से NH 727 भी जाम हो गया। आक्रोशित लोग आरोपी को फांसी देने की मांग कर रहे थे। बगहा SP ने देर शाम बताया कि आरोपी राजू बैठा ने अपना अपराध कबूल कर लिया है। रेप की पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के सामने आने के बाद ही हो पाएगी।

शाम को भाई ने बात की कुछ देर बाद बंद हुआ मोबाइल

चिउटाहा थाना इलाके के कदमहवा छोपी टोला गांव की निवासी छात्रा 14 मार्च को परीक्षा देने के लिए बेतिया गई थी। बेतिया से बस से ​​​​​​​बगहा लौटी। बगहा से ऑटो से गांव लौट रही थी। शाम 7:30 बजे बड़े भाई ने कॉल किया तो उसने बताया कि मर्यादपुर नहर इलाके तक पहुंची है. यह भी कहा था कि ऑटो की सभी सवारियां उतर गई हैं, वह अकेली है। इसके बाद से उसका मोबाइल बंद हो गया। देर रात तक भी जब वह घर नहीं पहुंची तो अगले दिन परिजनों ने चिउटाहां थाना में सूचना दी। लड़की के गायब होने के पीछे परिजनों ने ऑटो चालक पर संदेह जताया था। इस दौरान लड़की की पूरी जानकारी तस्वीर के साथ इलाके में वायरल की गई।

गांव से लगी नहर में मिली युवती की लाश

गुरुवार की सुबह प्रतापपुर गांव से लगी त्रिवेणी नहर में एक लड़की की लाश तैरती हुई मिली। अंडरगार्मेंट में तैरती लाश देखकर ग्रामीणों ने उसे निकाला। फिर सोशल मीडिया के माध्यम से वायरल उसी लेटर से शव की पहचान की। पुलिस और परिवार को जानकारी दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को तुरंत ही अपने कब्जे में लेकर बगहा भेज दिया। जिस गांव से लाश मिली वह लड़की के गांव से करीब दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

हंगामा कर रही भीड़ को समझाते बगहा SP और अन्य अधिकारी।

हंगामा कर रही भीड़ को समझाते बगहा SP और अन्य अधिकारी।

हंगामे में स्कूली छात्राएं भी पहुंची, CM के खिलाफ भी लगे नारे

बगहा अनुमंडल अस्पताल के बाहर हुए हंगामे में बड़ी संख्या में स्कूली छात्राएं भी शामिल थीं। सभी पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। लड़कियों में सुरक्षा को लेकर आक्रोश था। इस दौरान अस्पताल पहुंचे SP और SDM को भी भीड़ के गुस्से का शिकार होना पड़ा। बार-बार समझाने के बावजूद हंगामा जारी रहने पर SP भी चुपके से निकल गए। दोपहर बाद भी अनुमंडल अस्पताल के पास हजारों की भीड़ जमा रही। प्रशासन के साथ ही बिहार के CM नीतीश कुमार के खिलाफ भी नारेबाजी हुई।

बगहा अनुमंडल अस्पताल के बाहर हंगामे में मौजूद स्कूली लड़कियां।

बगहा अनुमंडल अस्पताल के बाहर हंगामे में मौजूद स्कूली लड़कियां।

लड़की की तस्वीर से ऑटो ड्राइवर की हुई पहचान, पूछताछ में पकड़ाया

14 मार्च की रात लड़की के गायब होने के बाद परिजनों ने उसकी तस्वीर लेकर बगहा ऑटो स्टैंड में पूछताछ की। इसी बीच किसी ने बताया कि यह लड़की 14 मार्च की शाम कठकुइयां निवासी राजीव बैठा के ऑटो से गई थी। इसके बाद राजीव बैठा को पकड़ा गया। पहले तो उसने बरगलाने की कोशिश की। कई झूठ बोले। एक बार कहा कि लड़की को दूसरे ऑटो में बैठा दिया था। फिर कहा कि उसे चिउटाहां तक छोड़ दिया था। लोगों का शक गहराया तो उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया था। इसके बाद अब गुरुवार की सुबह लड़की की लाश मिली तो लोगों का गुस्सा आरोपी पर फूट पड़ा। पुलिस ने आरोपी को आक्रोशित लोगों से बचाए रखा। बगहा और खासकर चिउटाहां थाना में पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बेतिया और आसपास के इलाकों की कई पुलिस टीम बगहा और चिउटाहां थाना इलाके में कैम्प कर रही है।

नहर से ग्रामीणों ने निकाला शव और उसे देखने उमड़ी भीड़।

नहर से ग्रामीणों ने निकाला शव और उसे देखने उमड़ी भीड़।

फर्स्ट डिवीजन से मैट्रिक पास थी लड़की, पुलिस में ही जाना चाहती थी

मृतका तीन भाइ-बहनों में सबसे छोटी थी। परिवार में मां और पिता हैं। उसने 2015 में मैट्रिक की परीक्षा फर्स्ट डिवीजन से और 2017 में इंटर की परीक्षा सेकेंड डिवीजन से पास की। परिवार के अनुसार उसे जॉब करने की इच्छा थी। विशेष तौर पर पुलिस की नौकरी में ही जाना चाहती थी। इसलिए ही सिपाही बहाली का एग्जाम भी दिया था। लेकिन अब इस घटना के बाद परिवार में कोहराम मच गया है। मां का रो-रोकर बुरा हाल है। इलाके के लोग मामले में स्पीड ट्रायल कराकर आरोपी को फांसी दिए जाने की मांग कर रहे हैं।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: