POLITICS

बंगाल की मुख्यमंत्री को ईसी का जवाब: चुनाव आयोग ने ममता के आरोपों को खारिज कर दिया; ने कहा

  • हिंदी समाचार
  • चुनाव २१
  • पश्चिम बंगाल
  • चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पर लगाए आरोप नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में बूथ पर मतदान में व्यवधान, नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र, विधानसभा चुनाव 2021, डब्ल्यूबी विधानसभा चुनाव 2021

विज्ञापन से परेशान है? विज्ञापन के बिना खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कलक

  • कॉपी नंबर
  • वीडियो
  • पश्चिम बंगाल में दूसरे चरण की वोटिंग के दौरान 1 अप्रैल को ममता ने चुनाव आयोग से चिट्ठी लिखकर शिकायत की थी कि बूथ नंबर -7 में सेंट्रल फोर्स के जवानों ने वोटर को वोट डालने नहीं दिया। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नंदीग्राम में पोलिंग बूथ पर धानधली की शिकायत के बाद चुनाव आयोग (ईसी) ने रविवार को जवाब दिया। अपने जवाब में चुनाव आयोग ने ममता के सभी आरोपों को समाप्त से खारिज कर दिया। आयोग ने कहा कि ममता ने जो आरोप लगाए थे, उनमें कोई सच्चाई नहीं पाई गई। ईसी ने कहा कि बीएसएफ के जवानों की ओर से मतदान के दौरान गड़बड़ी किए जाने का भी कोई सबूत नहीं मिला है। इस दौरान किसी भी बाहरी व्यक्ति पोलिंग बो के अंदर नहीं गए, जिससे पोलिंग प्रभावित हो सके।
    ) स्कूल में बने बूथ नंबर -7 में गड़बड़ी होने का आरोप लगाया गया था। जिसके बाद आयोग ने इसका जवाब पूरी तरह से जारी किया। सुबह 5.30 बजे की मॉकड्रिल से लेकर सुबह 7 बजे से मतदान शुरू होने और शाम तक मतदान समाप्त होने तक का सिलसिलेवार ब्योरा दिया गया है। आयोग ने कहा कि बूथ नंबर -7 में वोटिंग शुरू होने से पहले सभी मौजूद राजनीतिक दलों के पोलिंग एजेंटों्स की मौजूदगी में मॉकड्रिल हुई और उसके बाद वोटिंग हुई। आयोग ने कहा कि ड्यूटी के दौरान सेंट्रल फोर्स के युवा न पिक के अंदर गए और न ही किसी शीटर को अंदर जाने से रोका गया। चुनाव आयोग ने अपने 6 पेज के जवाब के साथ ममता की चिट्ठी भी सार्वजनिक की है, जो उन्होंने आयोग को लिखी थी।

    पूरा मामला क्या है? बंगाल में दूसरे चरण की वोटिंग के दौरान 1 अप्रैल को ममता ने चुनाव आयोग से चिट्ठी लिखकर शिकायत की थी कि बूथ नंबर -7 में सेंट्रल फोर्स के जवानों ने वोटर को वोट डालने नहीं दिया था। उस दिन ममता बो के बाहर पहुँचने पर भी बैठ गए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि बूथ पर भाजपा ने गिटारधारी गुंडे को भी बुलाया था। उन्होंने कहा कि शिकायत के बाद भी चुनाव आयोग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। यदि ऐसा जारी किया जा रहा है, तो वे मामले को कोर्टेड करेंगे।

    Back to top button
    %d bloggers like this: