POLITICS

फारूक अब्दुल्ला ने राहुल गांधी के शंकराचार्य से तुलना की:कहा

फारूक अब्दुल्ला ने राहुल गांधी के शंकराचार्य से तुलना की:कहा- उनके बाद राहुल दूसरे ऐसे, जिन्होंने कन्याकुमारी से कश्मीर तक यात्रा निकाली

हाँ11 घंटे पहले

भारत जोड़ो यात्रा का शुक्रवार को दूसरा दिन रहा। जम्मू में यात्रा के दौरान फारूक अब्दुल्ला मौजूद रहे। वे राहुल गांधी से मिलते हैं।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व श्री फारूक अब्दुल्ला ने राहुल गांधी की तुलना आदि शंकराचार्य से की है। उन्होंने कहा कि वह शंकराचार्य के बाद कन्याकुमारी से जम्मू कश्मीर तक यात्रा निकालने वाले दूसरे व्यक्ति हैं। अब्दुल्ला ने ये भी कहा कि ये ‘राम’ और ‘गांधी’ का देश है। बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा ने गुरुवार शाम को जम्मू में एंट्री ली, आज दूसरा दिन है।

फारूक अब्दुल्ला ने कहा, “सदवासी पहले शंकराचार्य यहां आए थे। वह तब चले जब सड़कें नहीं थीं, लेकिन जंगल थे। वह कन्याकुमारी से पैदल चलकर कश्मीर गए थे। राहुल गांधी दूसरे व्यक्ति हैं, जिन्होंने उन्हीं कन्याकुमारी से यात्रा निकाली और कश्मीर पहुंच गए। हैं।”

पंजाब के लखनपुर से गुरुवार को भारत जोड़ो यात्रा की जम्मू-कश्मीर में एंट्री हुई।  मंच पर राहुल गांधी और फारूक अब्दुल्ला ने एक-दूसरे को गले लगाया।

पंजाब के लखनपुर से गुरुवार को भारत जोड़ो यात्रा की जम्मू-कश्मीर में एंट्री हुई। मंच पर राहुल गांधी और फारूक अब्दुल्ला ने एक-दूसरे को गले लगाया।

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में भारत जोड़ो यात्रा के पहुंचने पर सांसद संजय राउत भी शामिल हुए।  वह राहुल गांधी के साथ-साथ चलते हैं।

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में भारत जोड़ो यात्रा के पहुंचने पर सांसद संजय राउत भी शामिल हुए। वह राहुल गांधी के साथ-साथ चलते हैं।

पाकिस्तान और आतंकवाद पर भी फारूक अब्दुल्ला ने कबूल किया। उन्होंने कहा कि जब तक पाकिस्तान के साथ बातचीत नहीं होगी, तब तक यह परिवार जीवित रहेगा। अब्दुल्ला ने यह भी कहा, “मैं आपको अपने खून से लिखा जा रहा हूं कि आतंकवाद जिंदा है और यह तब तक खत्म नहीं होगा जब तक आप पाकिस्तान से बात नहीं करेंगे।”

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में भारत जोड़ो यात्रा होगी।  इस दौरान राहुल गांधी के साथ बड़ी संख्या में उनके समर्थक दिखे।  सुरक्षा प्रतिबद्धताओं में राहुल गांधी आगे बढ़ते हैं।

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में भारत जोड़ो यात्रा होगी। इस दौरान राहुल गांधी के साथ बड़ी संख्या में उनके समर्थक दिखे। सुरक्षा प्रतिबद्धताओं में राहुल गांधी आगे बढ़ते हैं।

यात्रा का एक उद्देश्य भारत को एक करना: फारूक
फारूक अब्दुल्ला ने यह भी कहा कि भारत जोड़ो यात्रा का उद्देश्य देश के प्रति घृणा के प्रति एकता रखना है। यह गांधी और राम का देश है, जहां हम सभी एक हैं। भारत में द्वेष पैदा किया जा रहा है और धर्मों का एक दूसरे पर आरोप लगाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि गांधी और राम का भारत वह था जहां हम सब एक थे। यह यात्रा भारत को एक करने का प्रयास कर रही है। इसके दुश्मन भारत, मानवता और लोगों के दुश्मन हैं।

Back to top button
%d bloggers like this: