POLITICS

प्रसिद्ध नहीं होने वाले पेंटर: पद्म विभूषण से सम्मानित चित्रकार लक्ष्मण मिले का 95 वर्ष की उम्र में निधन, जाने के लिए अंतिम साँस लेना

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चित्रकार लक्ष्मण पाई का 95 साल की उम्र में निधन हो गया। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

चित्रकार लक्ष्मण ने का 95 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। (फाइल फोटो) पद्म भूषण से सम्मानित चित्रकार लक्ष्मण मिले का रविवार को गो में उनके आवास पर निधन हो गया। 95 वर्ष के थे। उनके निधन पर गो के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शोक जताया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा , गो के जाने-माने कलाकार पद्म भूषण लक्ष्मण ने के निधन से बहुत दुख हुआ। गो ने आज एक रत्न को खो दिया। हम कला के क्षेत्र में उनके अपार योगदान को हमेशा याद रखेंगे। उनके परिवार के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है।

कलाकार पद्म भूषण श्री लक्ष्मण पै। गोवा ने आज एक रत्न खो दिया है। कला के क्षेत्र में उनके अपार योगदान को हम हमेशा याद रखेंगे। उनके परिवार के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। ओम शांती – डॉ। प्रमोद सावंत (@DrPramodPSawant)
१४ मार्च २०२१
गो विधानसभा में विपक्ष के नेता दिगंबर कामत ने भी लक्ष्मण को की मौत पर दुख जताया है। कामत ने ट्वीट कर कहा कि अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पद्म भूषण लक्ष्मण मिले के निधन से गहरा दुख हुआ है। उनका नहीं होना कला के क्षेत्र में एक बड़ी क्षति है। वे अंतिम समय तक पेंटिग पर काम कर रहे थे। उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के कलाकार पद्म भूषण लक्ष्मण पै। उनके निधन से कला के क्षेत्र में एक बड़ा शून्य पैदा होगा। वह मार्गो के पई फोंडेकर परिवार से संबंध रखते थे। उसके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं। उनकी आहट से सद्गति प्राप्त हो सकती है। – दिगंबर कामत (@digambarkamat) १४ मार्च २०२१

केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद यइक ने भी ट्वीट कर लक्ष्मण को को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- महान भारतीय कलाकार और चित्रकार लक्ष्मण मिले के निधन का सुनकर दुख हुआ। ईश्वर उनके परिवार को दुख सहन करने की ताकत दे।

और चित्रकार, गोवा कॉलेज ऑफ़ आर्ट के पूर्व प्राचार्य, पद्म भूषण लक्ष्मण पई जी भगवान अपने परिवार को नुकसान सहने की शक्ति दे। ओम शांति – श्रीपाद वाई। नाइक (@shripadynaik) 14, 2021 कई पुरस्कारों से सम्मानित किए जा चुके हैं लक्ष्मण मिले

21 जनवरी 1926 को जन्मे लक्ष्मण को देश के कई प्रतिष्ठित सम्मानितों से सम्मानित किया जा चुका है। । जिनमें पद्म भूषण, पद्म श्री, नेहरू पुरस्कार और ललित कला अकादमी पुरस्कार शामिल हैं। उन्होंने कॉलेज ऑफ़ आर्ट के पूर्व प्रिंसिपल के तौर पर भी अपनी सेवाएं दी हैं।

Back to top button
%d bloggers like this: