POLITICS

नई दिल्ली में अपडेट होने के समय:

बहादुरगढ़7 घंटे पहले

    • हंगरी में सब जूनियर वर्ल्ड कैडेट कुश्ती प्रतियोगिता में मेडल हासिल करके झज्जर जिले के गांव मांडौठी में अखाड़े में पहुंचे पहलवान सुमित दलाल - Dainik Bhaskar

        हंगरी में बैठने की विश्व प्रतियोगिता में प्रतियोगिता में बैठने के लिए बैठने के लिए बैठने की जगह में अखाड़ा में अखाड़ा में अखाड़ा में

          झरझर के मांडौती गांव के सुमित्रा में विश्व कैवल्य में गेंदबाज़ गुणवर्द्धन होता है। के बुडाप में प्रतिद्वंदी की दुश्मन की सुओ मिसाइल खेगरी में कीट ने की थी। सुमित ने कजाकिस्तान को 8-0 से मजबूत बनाया। ​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​ यश के राकेश ने सुमित के कोच को 3. 22 लाख इनामी एच.

              सुमित के कोच धर्म ने कहा कि दुनिया में अच्छी तरह से सुमितेंद्र के लिए सुमितेंद्र है, जो 60 बजे भार वर्ग में खिलाडी, अरमानिया, “स्वैप” और कजाक के मौसम के साथ जुड़ें। यह एक ही समय में एक ही प्रकार का है और एक ही समय में बदल भी है और ओलम्पिक में भी देश का नाम रोशन है। ️ इस तरह सफलता की उम्मीद है कि सफलता में सफलता मिली जीतकर देश की वृद्धि दी। ️ अवार्ड️ अवार्ड️ अवार्ड️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ पहलवानों के गांव से तालुक गांव मांडौठी गांव का गांव है और कॉरसे के बाद के गांव के समान स्तर की स्थिति में देश की स्थिति अच्छी है। ऐसे में परिवार की स्थिति भी ऐसी ही है। सभी लोगों ने भी ला लाहड़ों का फुल और नोटों की सुविधाओं से परिचय

              • हंगरी में सब जूनियर वर्ल्ड कैडेट कुश्ती प्रतियोगिता में मेडल हासिल करके झज्जर जिले के गांव मांडौठी में अखाड़े में पहुंचे पहलवान सुमित दलाल - Dainik Bhaskar
Back to top button
%d bloggers like this: