POLITICS

देश-दुनिया में कोरोना का खतरा:केरल में सार्वजनिक जगहों पर मास्क लगाने की डेटरी; जापान में 24 घंटे में 284 लोगों की मौत

चीन में कोरोना का मामला बढ़ने के साथ ही भारत, जापान और अमेरिका जैसे देशों में भी नई लहर का खतरा मंडराने लगा है। इस बीच, केरल सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर चश्मे की सुरक्षा में डेटरी लगा दी है। सरकार की नई गाइडलाइन के मुताबिक, ऑफिस, सोशल गैदरिंग और जुड़ाव-भाड़ वाले दायरे में लोगों को मास्क लगाना होगा। ही एक साथ संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सामाजिक गड़बड़ी का पालन करना होगा।

अजमेर, जापान की रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार (16 जनवरी) को 54 हजार 378 मामले दर्ज किए गए। राजधानी टोक्यो में 4,433 मामले सामने आए। मरने का पात्र 284 रहा। 687 नए लोग अस्पताल में भर्तियां हो रही हैं। जानकारों का कहना है कि जापान में 15 जनवरी के बाद कोरोना के मामले सामने आ सकते हैं।

पहले जानिए भारत में क्या है कोरोना की स्थिति…
भारत में शुक्रवार को 114 नए मामले सामने आए। हेल्थ मिनिस्ट्री के आंकड़ों के मुताबिक, देश में अभी 1,146 एक्टिव केस हैं। कोरोना के शुरुआती दौर से अब तक देश में 5 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

XBB.1.5 वैरिएंट के कुल केस 26 हुए
INSACOG के आंकड़ों के मुताबिक, COVID-19 के XBB.1.5 वैरिएंट के मामले बढ़कर 26 हो गए हैं। भारतीय सार्स-सीओवी-2 इलेक्ट्रिक्स कंसोर्टियम (आईएनएसएसीओजी) ने कहा कि एक्सबीबी.1.5 वैरिएंट के मामले अब तक दिल्ली, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल सहित 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पाए गए हैं।

WHO ने जारी की नई गाइडलाइन
WHO ने नई गाइडलाइन जारी की है। इसके अनुसार, जिन रोगियों में संक्रमण के लक्षण मिले हैं, वो 10 दिनों के लिए आइसोलेशन में रहें। इसमें नकाब पर भी जोर दिया गया है। इसके पहले भी WHO ने लंबी यात्रा करने वाले यात्रियों से मुखौटा पहनने के लिए कहा था।

दुनिया में 67 करोड़ से ज्यादा मामले

worldometer के मुताबिक, दुनिया के 64 करोड़ 27 लाख 88 हजार 765 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं।

worldometer के मुताबिक, दुनिया के 64 करोड़ 27 लाख 88 हजार 765 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं।

कोरोना worldometer के मुताबिक दुनिया में अब तक 67 करोड़ 14 लाख 59 हजार 861 मामले सामने आ चुके हैं। 11 जनवरी 2020 को चीन के वुहान में 61 साल के बुजुर्ग की मौत हुई थी। ये दुनिया में कोरोना से होने वाली पहली मौत थी। इसके बाद मरने का सिलसिला शुरू हो गया। अब तक 67 लाख 31 हजार 105 घोटाले हो चुके हैं।

इन देशों में चीन के यात्रियों पर प्रतिबंध लगाया गया है
चीन से आने वाले यात्रियों पर स्वीडन, जर्मनी, मलेशिया, कतर, बेल्जियम, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, मोरक्को, फ्रांस, ब्रिटेन, स्पेन, अमेरिका, जापान, इजराइल, भारत, इटली और दक्षिण कोरिया पर प्रतिबंध लगाए गए हैं। यहां चीन से आने वाले यात्रियों को कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव दिखाएगी। मोरक्को ने तो चीन के यात्रियों को बैन ही कर दिया है। ताइवान भी चीन से आने वालों के लिए COVID टेस्टिंग कंपल्सरी है। पाकिस्तान और फिलीपींस भी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। थाईलैंड और न्यूजीलैंड ने कोई भी प्रतिबंध लगाने से मना कर दिया है।

देश-दुनिया में कोरोना से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…​​

23 जनवरी को चीन में कोरोना से 25 हजार समझौता होगा; 3 सप्ताह में 18% जनसंख्या हुई

चीन में कोरोना से हालात बेकाबू हो गए हैं। एचके पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, दिसंबर के शुरुआती तीन हफ्ते में ही यहां 25 करोड़ लोग कोरोना से सीधे हो गए हैं। यह जनसंख्या का 18% है।​​​​​ पढ़ें पूरी खबर…

क्या कोरोना में चीन की सख्ती सिर्फ दिखावटी थी; 5 पड़ोसी की वजह से आज उसकी बदहाली की वजह से मिले

चीन में संक्रमण के हालात 2020 की याद दिला रहे हैं। तब से अब तक जिनपिंग सरकार ने इससे समझौते के लिए सख्त नियम लागू किए। जीरो वाइडलाइन दी गई। अत्यधिक सख्त रहे। सभी वायरल और वायदों के बावजूद कोरोना कंट्रोल नहीं किया जा सका। पढ़ें पूरी खबर…

Back to top button
%d bloggers like this: