POLITICS

देवदूत बने सेना के जवान: कुपवाड़ा जिले में सेना के जवानों ने बर्फबारी के बीच दो सेनाओं को 5 किमी कंधे पर उठाकर अस्पताल पहुंचाया

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय

    • कुपवाड़ा जिले में, सेना के जवान ने 5 किलोमीटर की दूरी पर दो गर्भवती महिलाओं को उठाया और उन्हें अस्पताल में बर्फबारी के लिए लाया।

    विज्ञापन से है परेशान? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

    जवानों ने बर्फबारी के बीच दो वनवासियों को 5 किमी कंधे पर उठाकर अस्पताल पहुंचाया

    • एक महिला ने बच्ची को जन्म दिया, दूसरे का इलाज जारी
    • परिजनों ने सेना का धन्यवाद किया
    • श्रीनगर में आतंकवाद के खिलाफ लड़ रही सेना को जनता की मदद करने में भी मदद मिली। पीछे हटती नहीं। सेना ने ‘हमसाया’ कार्यक्रम शुरू किया है। कुपवाड़ा जिले में सेना को जानकारी मिली एक को महिला प्रसव पीड़ा हो रही है तो जवानों ने बिना समय गवाए बर्फबारी के बीच दो सेनाओं को 5 किमी कंधे पर उठाकर अस्पताल पहुंचाया। एक महिला ने बच्ची को जन्म दिया, दूसरे का इलाज जारी है। डॉक्टरों और परिजनों ने गर्भवती को समय पर पहुंचाने के लिए सेना का धन्यवाद किया है।

      जवानों ने कंधे पर उठाकर महिला को एंबुलेंस तक पहुंचाया जवानों ने कंधे पर उठाकर महिला को एर्केन तक पहुंचाया

      कलारस के नुनवानी गाँव में देर रात सकीना बेगम को पीड़ित होने, लेकिन बर्फबारी के कारण एअरसेंस के मौके पर पहुंच नहीं सकी। खबर मिलने पर कलारस के कंपनीैंडर मेजर मुकेश युवा मेडिकल टीम के साथ मौके के लिए रवाना हुए, लेकिन जवानों की जिप्सी भी बर्फ में फंस गई और आगे नहीं जा सकी। मौके पर जवानों के बिना देरी किए सकीना के घर पहुंचकर बर्फबारी के बीच से महिला कंधों पर उठाकर जिप्सी तक पहुंचाया और सीधा अस्पताल ले गए।

    सेना कर रही है जनता की मदद

    कंधे पर उठाकर सोगम अस्पताल पहुंचाया। इलाके में घुलम नबी नाम के शख्स ने 28 आरआर की मारुल कंपनी के जवानों से अस्पताल पहुंचाने के लिए मदद मांगी और युवा भी तुरंत संपर्क हो गए और कोशी मोहल्ला दर्दपोरा की खुर्शीद बेगम को कंधों पर उठाकर अस्पताल पहुंचाया। यहां भी बर्फबारी की वजह से ना एकर्न्स मरीज तक पहुंच पाए ना जवानों की गाड़ी। सेना कर रही जनता की मदद

    Back to top button
    %d bloggers like this: