POLITICS

तीन साल के बच्चे को फेंका बस के सामने:नारनौल में बस रुकवाने के खातिर पिता की करतूत, दुकानदारों-बस ड्राइवर की सूझ धोखे से बच्चा सुरक्षित

नारनौल2 घंटे पहले

इसी बच्चे को उसके पिता ने बस के आगे फेंक दिया था जिसे दुकानदारों और बस ड्राइवर ने सूझ से बचा लिया।

हरियाणा के नारनौल में शराब के नशे में एक शख्स ने अपने साल भर के बच्चे को बस के सामने फेंक दिया। ये शख्स बस को रुकवाना चाहता था और इसी चक्कर में उसने अपने बच्चे को ही बस के आगे फेंक दिया। हालांकि बस ड्राइवर और आसपास के दुकानदारों की सूझबूझ से बच्चे को बचा लिया गया। नारनौल बस स्टैंड से शाम साढ़े छह बजे रोडवेज की एक बस झुंझुनू (राजस्थान) के लिए रवाना हुई। बस स्टैंड के निकासी गेट से निकलकर बस के कुछ आगे पहुंचते ही एक शख्स ने 3 साल के बच्चे को बस के सामने सड़क पर फेंक दिया। जिस शख्स ने बच्चे को फेंका, उसका नाम सुरेंद्र सिंह है और वह बलाहा कलां गांव में रहने वाला है। सुरेंद्र ने बस को रुकने के लिए यह हरकत की।

दुकानदारों हालांकि आसपास के दुकानदारों ने बच्चे को बचाया
हुए तुरंत बच्चे को सड़क से जोड़कर साइड में लिया। देखते ही देखते बस ड्राइवर ने भी ब्रेक लगा दिया। उरद इस घटना के बाद स्मारकों पर भीड़ लग गई। इसी बीच दुकानदारों ने पुलिस को डायल 112 पर भी सूचना दी। स्पॉट पर पुलिस टीम बच्चे और उसके पिता सुरेंद्र को चौकी ले गई।

समाजसेवी को बुलाकर बच्चे
आ कहना
बच्चे के पिता सुरेंद्र नशे की लत है। बताया जा रहा है कि सुरेंद्र की पत्नी कुछ दिन पहले ही उसे छोड़कर चली गई। घटना के समय सुरेंद्र अपने बच्चे के साथ बस पकड़ आया था। इस घटना के बाद पुलिस ने गोद बलहा गांव के समाजसेवी विनोद कुमार को बुलाकर बच्चे को सौंप दिया। समाजसेवी विनोद ने बताया कि वह बच्चे को उनकी दादी को गिफ्ट करेगा। विनोद ने बताया कि सुरेंद्र का परिवार भी उससे काफी परेशान है।

Back to top button
%d bloggers like this: