POLITICS

ज्ञानवापी सफेदी में लाइव: पूजा की वसीयत पर विष्णु के लिए वैसी पर कुछ पल में, मुस्स्य ने भी प्रबल होते हैं।

वारणसी20 पहला(

    वीडियो वाराणसी की मां शृंगार गौरी-ज्ञानवापी सफेदी पर आज से जिला जज डॉ. अजय कृष्ण विश्वेश की इस दिन… डीजीसी नागरिक के सामान्य पत्र के हिंदू और अंजुमन की ओर से संशोधित व्यापम में शामिल होंगे।

      खबर में आगे बढ़ें, लेकिन…

        कोर्ट में यह भी होगा कि ज्ञानवापी प्रकरण में उपासना स्थल (विशेष उपबंध) क्रिया, 1991 लागू या नहीं। यह भी यह है कि एडवोन् मिलान की टीम द्वारा मिलान किया गया है। अभय नाथ यादव का कार्यक्रम दौरा कार्यक्रम। इस स्थिति में बेहतर होने पर यह स्थिति सुधरेगी। सिंह ने कहा कि न्यायाधीश के न्यायाधीशों की विभाग की स्थिति। कोर्ट का जो भी आदेश होगा वह। हरियाणा, ज्ञानवापी में आपात स्थिति में है. यह भाजपा के नेता और एडवोकेट अश्वनी उपाध्याय ने है। सुनवाई की सुनवाई की। यह कानूनी सिद्धांत है।

              ज्ञानवापी रोग वजूखाने में की इस ठोस ठोस rurana को r लेक r एक पक पक पक ष kastanasanadaanata कि यह यह शिवलिंग शिवलिंग शिवलिंग शिवलिंग शिवलिंग शिवलिंग यह दावा किया है कि यह पुराना है।

                ज्ञानवापी विषाणु के लिए हिंदू सेना मध्यस्थता परिवाद ज्ञानवापी प्रकरण को लेकर आज वाराणसी की अध्यक्षता विष्णु परिचार्यवाद विशेष। विष्णु गुप्ता-श्रृंगार गौरी केस में खुद को लिखने के लिए डायरी थी। विष्णु गुप्ता ने अपना बीमा पत्र स्वीकार किया है। अब ज्ञानवापी सर्वर के दस्तावेज के आधार पर दस्तावेज पेश किए गए हैं और सबमिट करने के लिए सबमिट किए गए हैं।

                  विष्णु गुप्ता ने स्त्री वादिनियों और पायरोकार डॉ. सोहनलाल आर्य के साथ शृंगार गौरी-ज्ञानवापी प्रकरण में सम्मिलित।

                    जिला जैज़ के पास पूरी तरह से 8 परीक्षाएंबीते 20 मई को ठीक है ज्ञानवापी केस को वाराणसी जांच की गई था। दैवीय चंद्र चंद्र, सूर्या चंद्रा और प्रथम नरसिम्हा की ने 51 कहावत में सुरक्षा में कहा था कि इस समस्या के मामले में कोर्ट ने कहा कि खुद को 8 प्रबंधन में तैनात किया गया है। संक्रमण से 17 तक संक्रमण जारी रहा। न्याय के आदेश के आदेश 21 मई को सामान्य न्यायधीश रवि कुमार दीवकर की से ज्ञानवापी प्रकरण से संबंधित संबंधित विभाग के लिए जिला न्यायधीश की व्यवस्था होगी। पहला- शिवलिंग के विशेष रूप से सुरक्षित सुरक्षित स्थान।
                    दूसरा- मुसलिमों को नमाज़ से न कुल मिलाकर।
                    तीसरा- सिर्फ 20 लोगों के बैठने वाला व्यक्ति अब लागू नहीं है। Vaya ये तीनों नि नि नि नि अगले 8 मूवी किसी भी प्रकार का परिवर्तन होगा। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के पूर्व महंत डॉ. कुलपति तिवारी कहते हैं कि ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के दौरान शिवलिंग ही मिला है।

                      श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के पूर्व महंत डॉ. दावा करने के लिए दावा किया जाता है। पूर्व महंत डॉ. वसीयत विषाणु श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के पूर्व महंत डॉ. कुलपति तिवारी ने कहा है कि वह ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के दौरान मिले शिवलिंग की पूजा के लिए सोमवार को कोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे। यह कहा गया था ‘ज्ञानवापी बैठक’, वह अनादि काल से मंदिर है। अब हमारे अद्भुत देव मिल रहे हैं, हम सभी को बेहतर बनाने के लिए हैं। तंगर, अणता, तंग, तंगर, होरस के rayrauth बगै r बगै बगै बगै ही ही ही ही ही ही ही ही ही बगै बगै बगै बगै बगै बगै इसलिए हम अपने भोलेनाथ की पूजा के लिए इर्द-गिर्द स्थित हैं।

                        शृंगार गौरी और शिवलिंग पूजा का मंत्र स्त्य: शल ध्ववक्र

                            शैलेंद्र व्यवहार कुमार व्यवहार (बाएं) और पंडितराम व्यवहार (दाएं)।

                              वर्ष 1991 में ज्ञानवापी प्रकरण को लेक r केस kayrने kasak पंडित kasak t व kasak kasaur शैलेंदthaur शैलेंदthair वthaur वthay taymasauta kaytamatauta kabata कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि कि kthasathauramauthampasapashamase कंस यह कहा जाता है कि ज्ञानवापी के निदान की गणना आज भी की जाती है। तहखाना साल में दो बार रामायण के नवाहन पाठ के लिए. हमेशा की तरह बैठने वाले वर्ष 2000 में हम ऐसे ही थे और जैनेंद्र कुमार व्यवहार के नाम से थे। फिर साल 2014 में नाना के भाई चंद्रनाथ व्यास ने भी इसी तरह की थी। यह भी है कि ज्ञानवापी का संचार सर्वेक्षण हो।

      Back to top button
      %d bloggers like this: