POLITICS

जेपी नड्डा ने कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले

जेपी नड्डा ने कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- आज भारत के मंत्रिमंडल में 35% मंत्री ओबीसी वर्ग से हैं

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस पर साधा निशाना.

नई दिल्ली:

ओबीसी वर्ग के केंद्रीय मंत्रियों के सम्मान समारोह में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में 27 OBC मंत्री बने हैं. आज भारत के मंत्रिमंडल में 35% मंत्री ओबीसी वर्ग से हैं. मंत्रिमंडल विस्तार में सभी जातियों का प्रतिनिधित्व देने का और सभी राज्यों को जोड़ने का प्रयास हुआ है. मंत्रिमंडल में 12 एससी और 8 एसटी मंत्री बने हैं. 11 महिलाएं मंत्री बनी हैं, युवाओं की भी संख्या अधिक है.

संसद के मानसून सत्र में हंगामा ज्यादा.. काम कम, लोकसभा में 22% व राज्यसभा में 28% ही हुआ कामकाज

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास ये हमारा कर्तव्य है. इसलिए मैं आप सभी से निवेदन करूंगा कि एकाग्रचित तरीके से सभी जातियां निकालिए. कौन सी पिछड़ी जाति छूट गई है, कौन सी पिछड़ी जाति को जोड़ना है, कौन सा प्रदेश कमजोर रह गया जिसको हमें जोड़ना है. विपक्ष पर निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने क्रीमी लेयर का स्तर 6 लाख रुपये से बढ़ाकर 8 लाख रुपये किया है. पहले की सरकारों को इसका ख्याल क्यों नहीं आया? नीट में ओबीसी वर्ग के लिए आरक्षण की व्यवस्था भी प्रधानमंत्री मोदी जी ने की है.

कांग्रेस पर हमला करते हुए नड्डा ने कहा कि जब ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया गया, तब लोकसभा में कांग्रेस ने विरोध किया. राज्यसभा में पहले भेजा गया, फिर सेलेक्ट कमेटी से लौटने के बाद भी कांग्रेस ने इसका विरोध किया था. मोदी सरकार में ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया गया है. पहले किसने मना किया था ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के लिए. क्या कर रहे थें, कैसा शासन चला रहे थे? किसी ने खुद को युवा नेता के रूप में पहचान दिलाई, लेकिन युवाओं के लिए कुछ नहीं किया.

एक साथ नजर आए पीएम मोदी और सोनिया गांधी, पक्ष और विपक्ष के नेताओं के साथ ओम बिरला ने की बैठक

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने सभी के हित में कार्य किए हैं. कुछ लोगों ने खुद को किसान नेता के रूप में उभारा, लेकिन किसानों के लिए कुछ नहीं किया. किसी ने खुद को दलित नेता के रूप में स्थापित करने की कोशिश की, लेकिन दलितों के लिए कुछ नहीं किया. केंद्रीय मंत्रिमंडल में 12 SC और 8 ST मंत्री बने हैं. 11 महिलाएं मंत्री बनी हैं, युवाओं की संख्या अधिक है. क्या पहले किसी पार्टी में 11 महिला मंत्री हुआ करती थीं? पहले इन सबको एक ही परिवार की उस सोच ने रोक रखा था. नए मंत्रिमंडल में सभी जातियों का प्रतिनिधित्व है. सभी राज्यों, सभी क्षेत्रों को जोड़ने का प्रयास हुआ है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने मंत्रिमंडल के विस्तार के लिए संगठन के साथ घंटों चर्चा की है, तब ये भारत का गुलदस्ता तैयार हुआ है.

Back to top button
%d bloggers like this: