POLITICS

जागरूकता की कमी

अस्वच्छता से जो बीमारियां फैलती हैं, उसके लिए सरकार को दोष देना उचित नहीं है। आज भी देश में उन्नीस फीसद परिवारों में शौचालय का न होना दुखद है।

नई दिल्ली

Updated:

सांकेतिक

हमारे देश में स्वच्छता अभियान को काफी समय हो गया है। सरकार अपनी तरफ से प्रयास भी कर रही है कि हमारे देश में साफ-सफाई के मामले में अधिक से अधिक जागरूकता पैदा हो। पर ग्रामीण तो ग्रामीण, आजकल शहरी क्षेत्रों में भी कई जगहों पर स्वच्छता के प्रति उदासीनता दिखाई देती है।

नगर पालिका और नगर निगम की गाड़ियां घर-घर से कचरा एकत्रित कर रही हैं, तब उनको सहयोग करना हमारा फर्ज है। अस्वच्छता से जो बीमारियां फैलती हैं, उसके लिए सरकार को दोष देना उचित नहीं है। आज भी देश में उन्नीस फीसद परिवारों में शौचालय का न होना दुखद है।

अगर हम अपने आसपास साफ-सफाई नहीं रखेंगे तो इससे हमारा ही नुकसान होगा।

आजकल पानी की कमी भी ग्रामीण क्षेत्रों में काफी पाई जाती है इस कारण भी ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालय की कमी काफी कम नजर आती है, क्योंकि अगर शौचालय में पानी की सुविधा नहीं है तो फिर शौचालय में गंदगी बढ़ती है। स्वच्छता अभियान एक अच्छा विचार है, अगर कामयाब होता है तो हम मलेरिया, हैजा जैसी बीमारियों से बच सकते हैं।

मनमोहन राजावत राज, शाजापुर

पढें चौपाल (Chopal News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: