POLITICS

जय श्रीराम बोलने वालों को RSS प्रमुख मोहन भागवत की नसीहत, बोले

मोहन भागवत ने कहा कि भारत ने आदिकाल से पूरी दुनिया को सुसंस्कृत बनाने का काम किया। भारत का इरादा कभी किसी को जीतने का नहीं रहा और ना ही किसी को बदलने का रहा।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कहा कि ‘जय श्री राम’ के नारे को हम बड़े उत्साह से लगाते हैं लेकिन हमें श्रीराम जैसा बनना भी होगा। रविवार को दिल्ली में विज्ञान भवन में आयोजित ‘संत ईश्वर सम्मान 2021’ कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा कि हमें सिर्फ नारा ही नहीं बल्कि भगवान राम के बताए रास्ते पर चलना भी चाहिए।

भागवत ने कहा, “आजकल हम जय श्रीराम का नारा जोर से लगाते हैं, और लगाना भी चाहिए, इसमें बुरी बात नहीं है। लेकिन हमें श्रीराम जैसा होना भी चाहिए। लेकिन हम सोचते हैं कि वो तो भगवान थे।” उन्होंने कहा कि सामान्य व्यक्ति की प्रतिक्रिया रहती है कि भरत जैसे भाई पर प्रेम करना श्रीराम ही करें, हम तो नहीं कर सकते।

#WATCH | Nowadays, we raise the slogan of ‘Jai Shri Ram’ enthusiastically. There is nothing bad in it but we should also follow the path shown by Lord Ram: RSS chief Mohan Bhagwat at an event in Delhi pic.twitter.com/rCrttILjJf

— ANI (@ANI) November 21, 2021

भारतीय सभ्यता के बने रहने को लेकर मोहन भागवत ने कहा कि भारतीय सभ्यता सभी को साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है। इसी वजह से कई बाधाओं के बाद भी यह बची रही और आगे बढ़ती रही।

उन्होंने कहा, “वेदों के समय से एक परंपरा है जो मानती है कि पूरा भारत आपका है। इस भूमि के प्रति यह भाव जिसे हम अपनी मातृभूमि और यहां जन्म लेने वालों को अपने भाई-बहन के रूप में मानते हैं। अगर हम इस करुणा के साथ काम करते हैं तो कोई भी चीज भारत को वांछित गति से बढ़ने से नहीं रोक सकती है।

इसके अलावा भारत के विकास को लेकर संघ प्रमुख ने कहा कि आजादी के बाद देश को जिस तरह से आगे बढ़ना चाहिए था, वह नहीं बढ़ पाया। भागवत ने कहा, हम देश को आगे ले जाने की दिशा में आगे चलेंगे तो खुद भी आगे बढ़ेंगे और 15-20 सालों में यह जरूर अपेक्षित विकास होगा।

बता दें कि आरएसएस का विरोध करने वाले इस संगठन पर सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने का आरोप लगाते रहते हैं, ऐसे में आरएसएस प्रमुख ने कहा कि भारतीय समाज किसी की आस्था के आधार पर उसका विरोध नहीं करता है।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: