POLITICS

जबरन धर्म परिवर्तन देश की सुरक्षा के लिए खतरा: सुप्रीम ने कहा:

राष्ट्रीय जबरन धर्म परिवर्तन पर सर्वोच्च न्यायालय | जस्टिस एमआर शाह, हिमा कोहली

नई दिल्ली एक सचेतन

दरा-धमकाकर या वित्तीय स्थिति में परिवर्तन। शक्तिशाली के अधिकार के अधिकार के बदले देश की रक्षा के लिए भी। Vayan ही kasak की kasaur लेक r लेक r लेक r लेक rabauramanasabasabasabasabasabauranata नवंब ray kasak kaytah kayrने को को को घटना की घटना 28 नवंबर को होगी। याचिकाकर की संशोधित- रद्द करने के लिए अलग से बने कानून
जबरन धर्म परिवर्तन को एडवोकाउटा विष्णु उपाध्याय ने डॉ. इस तरह के खेल के लिए ऐसा करने के लिए अलग-अलग सदस्य बनने की आवश्यकता है। या फिर इस अपराध को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) में लागू करना होगा। इस विषय में यह भी कहा गया है कि यह विषय किसी भी स्थान पर है, लेकिन पूरी तरह से समस्या की समस्या है।

कोर्ट ने केंद्र से कहा- पाये साथ ही यह भी कहा जाता है कि चलने को रोकने के लिए क्या करें। इस बात की जानकारी भी दी जाती है जब स्थिति धर्मग्रन्थ को अच्छी तरह से तैयार किया जाता है। आदिअत रक्तचाप में यह अधिक है। )

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से रायसेन के गौहरगंज में -बाप से बिछड़े हुए 3 सुडौल बनाए गए। सबसे पहले भाई-बहन थे, जो पहले से ही सबसे पहले अपने माता-पिता से थे। पूरी खबर होते हैं फिर 400 लोगों पर कृपा

समीक्षा में 28 पाठ परिवर्तन का एक बड़ा बदलाव आगमन। मंगतपुरम के 400 लोग एसएसपी कार्यालय। ️ थी️ थी️ थी️️️️️️️️❤ स्वास्थ्य की देखभाल करने वालों की मदद करने के लिए। अब धर्मान्तर के प्रेसी हैं। पूजा करने और मंदिर जाने से पहले। मानव देवी-देवता की फोटो हटवा दी। पुलिस ने स्थिति में 9 पर दर्ज किया है। पूरी खबर के लिए क्लिक करें…

Back to top button
%d bloggers like this: