POLITICS

छत्तीसगढ़ के कोविड अस्पताल में आग: राजधानी अस्पताल के कोरोना वार्ड में 5 मरीजों की मौत; आउट कार में बैठाकर लगाकर ऑक्सीजन लगी थी

विज्ञापन से परेशान है? विज्ञापन के बिना खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर २ घंटे पहले

  • कॉपी नंबर

तस्वीर रायपुर के राजधानी अस्पताल के बाहर की है। काफी देर तक मरीज यूं पड़ा रहा। - Dainik Bhaskar

चित्र रायपुर के राजधानी अस्पताल के बाहर की है। काफी देर तक मरीज यूं पड़ा रहा।

छत्तीसगढ़ के को विभाजित अस्पताल में आग लगने की घटना सामने आई है। रायपुर के पचपेड़ी नाका इलाके में राजधानी का नाम अलग अस्पताल में शनिवार शाम लगभग 5 बजे आग लग गई। घटना में पांच मरीजों की मौत हो गई। एक मरीज की मौत झुलसने से जबकि चार की मौत ऑक्सीजन सिस्टम के फेल से होने के बाद दमने से हुई है। दो फ्लोर वाले अस्पताल में कोरोना के मरीजों को भर्ती किया गया था।

आग की वजह से अस्पताल के सभी कमरों में धुआं भर गया। पहले से ही सांस की तकलीफ झेल रहे मरीजों का दम घुटने लगा। हड़बड़ाकर उनके घर वालों ने अस्पताल में लगे कांच को तोड़कर धुआं बाहर निकलने की जगह बनाई। फायर फाइटर्स भी मौके पर पहुंच गए। कुछ रोगियों को निकालकर एकरेंस के जरिए दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। वर्तमान में, राहत और बचाव का काम जारी है। हादसे के दौरान अस्पताल में लगभग 50 रोगी भर्ती थे। उधर, हादसे की सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर डॉ। एस भारतीदासन और सीनियर एसपी अजय यादव घटनास्थल पर पहुंच गए हैं, वे यहां सहायता और मदद की कार्यों गोजा ले रहे हैं।

एपरेंस में शव ले जाते अस्पतालकर्मी।

मृतकों के आश्रितों को 4-4 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा

    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस घटना को अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण बताया।] उन्होंने परिवार के परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की है। उन्होंने इस हादसे में मृत सभी 4 लोगों के परिजनों को 4- 4 लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा भी की है

    मरीजों के परिजनों ने बताई आँखों से

    )

    अस्पताल के बाहर मौजूद परिजनों ने बताया कि अचानक आग लगने के बाद अस्पताल में अफरातफरी मच गई। कोरोना वार्ड होने की वजह से हम बाहर थे। लेकिन जैसे ही धुंआ निकलता देखा, हम सावधानी बरतते हुए अंदर पहुंचे। अंदर चारों ओर और मुस्कान भरी थी। घुटन महसूस हो रही थी। इसके बाद सबसे पहले हमने अस्पताल के खिड़की को तोड़कर हवा आने-जाने के लिए जगह बनाई। फिर मरीजों को लेकर नीचे पहुंचे। उन्होंने कहा कि ऊपर पहुंचने के बाद कुछ वार्ड बुरी तरह जल गए थे, आग से टैक्सी के शीशे टूटकर जमीन पर पड़ गए थे।

    तस्वीर रायपुर के राजधानी अस्पताल की है। कांच तोड़कर धुआं बाहर निकाला गया और मरीजों को एंबुलेंस के जरिए दूसरे अस्पताल ले जाया गया।

    चित्र रायपुर की राजधानी अस्पताल की है। कांच तोड़कर धुआं बाहर निकाला गया और मरीजों को एकर्न्स के जरिए दूसरे अस्पताल ले जा गया।

    कार में बैठाकर ऑक्सीजन आग के बाद बाहर निकाले गए मरीज के साथ खड़े परिजन। एक मरीज जिसे सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, वह अंदर ही अंदर निकाल दिया गया गया है। एक कार में उसे बैठाया गया। अस्पताल और घर के लोग उसका ऑक्सीजन सिलेंडर बाहर लेकर आए। कार में ही उसे ऑक्सीजन दी गई। काफी देर तक इस मरीज को कहीं सुरक्षित जगह पर ले जाने का कोई इंतजाम नहीं हो सका। उसकी हालत भी नाजुक बनी हुई है।

    आग के बाद निकाले गए मरीज के साथ खड़े परिजन।

    जब आग लगी तो कोविड वार्ड और अस्पताल के लगभग हर हिस्से में मरीज थे। चर्चा है कि अचानक किसी मशीन में हुए शॉर्ट सर्किट की वजह से ये आग लगी। अस्पताल में वायरिंग पूरी तरह से झुलसने की वजह से आग तेजी से कमरों में फैली।

    खबरें और भी हैं …

      आग लगने से जला वार्ड।

      अब हर दिन १०० से ज्यादा मौतें: विशेषज्ञ कहते हैं- नई स्ट्रेन मचा रही तबाही, हमारी और सरकार की लापरवाही भी; 3 महीने में छत्तीसगढ़ के 2029 लोगों की जान चली गई अब 26 अप्रैल तक के लिए सब कुछ बंद, ठेलों पर राशन और सब्जियां मिलेंगी; कलेक्टर ने कहा- कोरोना के नए केस और मौत की संख्या ने बढ़ाई चिंता|रायपुर,Raipur - Dainik Bhaskar

    • विशेषज्ञ कहते हैं- नया स्ट्रेन मचा रहा तबाही, हमारी और सरकार की लापरवाही भी कारण; 3 महीने में छत्तीसगढ़ के 2029 लोगों की जान गई|रायपुर,Raipur - Dainik Bhaskar) रायपुर 7 दिन आगे बढ़ा लॉकडाउन: अब 26 अप्रैल तक के लिए सब कुछ बंद, ठेलों पर राशन और सतर्कता मिलेंगी; कलेक्टर ने कहा- कोरोना के नए मामले और मौत की संख्या ने बढ़ाई चिंता आग के बाद बाहर निकाले गए मरीज के साथ खड़े परिजन।

छत्तीसगढ़ के 7 शहरों में बढ़ा तालाबंदी: रायपुर, जशपुर, दुर्ग, बेमेतरा, बालोद अब 26 अप्रैल तक बंद, कोरबा और रायगढ़ 27 अप्रैल तक पूरा ताला ; राजनांदगांव का आदेश फर्जी निकला अब 26 अप्रैल तक के लिए सब कुछ बंद, ठेलों पर राशन और सब्जियां मिलेंगी; कलेक्टर ने कहा- कोरोना के नए केस और मौत की संख्या ने बढ़ाई चिंता|रायपुर,Raipur - Dainik Bhaskar

  • एक दूल्हा तीन बाराती, ले गए दुल्हनिया: छत्तीसगढ़ में कोरोना गाइडलाइन में हुई शादी; मंदिर में सात फेरे के समय दूल्हा, दुल्हन के साथ केवल पंडित मौजूद, घरवालों ने दूर से ही दिया आशीर्वाद )
  • Back to top button
    %d bloggers like this: