POLITICS

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी VIDEO लीक केस:सवालों में उलझा सच, लड़कियां परेशान; पंजाब पुलिस का रटा-रटाया जवाब ‘जांच हो रही है’

चंडीगढ़3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी वीडियो लीक केस की पूरी कहानी सवालों में उलझ गई है। 60 से ज्यादा छात्राओं के सम्मान और इज्जत से जुड़े इस केस में पुलिस के पास भी बताने लायक कुछ नहीं है। यूनिवर्सिटी की लड़कियां परेशान और डरी-सहमी हैं लेकिन पुलिस न तो आरोपियों की कड़ियां आपस में जोड़ सकी है और न ही असल दोषी को बेनकाब कर सकी है। अफसरों के पास हर सवाल के बदले ‘जांच हो रही है’ से ज्यादा कुछ कहने को नहीं है।

इस केस में पुलिस ने आरोपी छात्रा के अलावा सन्नी मेहता, रंकज वर्मा और एक फौजी संजीव सिंह को पकड़ा है। इन्हें रिमांड में लेकर 10 दिन से ज्यादा की पूछताछ हो चुकी है। इसके बावजूद अफसर परेशान छात्राओं को क्लियर नहीं कर पा रहे कि उनकी वीडियो वायरल होने का सच क्या है।

5 बड़े सवाल, जिनका जवाब हर किसी को चाहिए

  1. क्या सच में 60 से ज्यादा छात्राओं के नहाते हुए वीडियो बनाकर वायरल किए गए?। अगर नहीं तो पुलिस जवाब क्यों नहीं देती?, अगर हां, तो कहां और किसने वायरल किए?।
  2. आरोपी छात्रा, सन्नी मेहता, रंकज वर्मा और फौजी संजीव सिंह का क्या कनेक्शन है?। सन्नी मेहता छात्रा का ब्वॉयफ्रैंड बताया जा रहा है तो वह वीडियो रंकज की फोटो लगे वॉट्सऐप नंबर पर क्यों भेज रही थी?।
  3. फौजी संजीव सिंह ने अपने वॉट्सऐप पर रंकज वर्मा की ही फोटो क्यों लगाई?। क्या वह रंकज और सन्नी को जानता है?।
  4. फौजी संजीव सिंह रंकज वर्मा की फोटो लगा छात्रा से बात करता था?, अगर लड़की को यह पता था तो उसने दूसरी छात्राओं को रंकज की फोटो क्यों दिखाई?। अगर लड़की सच में फौजी का चेहरा नहीं जानती थी तो फिर उसकी फौजी से इतनी गहरी दोस्ती कैसे हुई कि उसने अपना अश्लील वीडियो उसे भेज दिया?।
  5. पुलिस की फॉरेंसिक जांच में देरी क्यों हो रही?। पुलिस ने आरोपी छात्रा के अलावा बाकी तीनों के भी मोबाइल जांच के लिए भेजे। उनसे वीडियो बने या नहीं, उन्हें वायरल किया गया या नहीं और कहां वायरल किए गए? इसके बारे में रिपोर्ट में देरी क्यों की जा रही है?।
कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन के दौरान स्टूडेंट्स ने इस तरह से भी विरोध जताया था।

कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन के दौरान स्टूडेंट्स ने इस तरह से भी विरोध जताया था।

सरकार जांच कर रही या दबा रही?

बड़ा सवाल पंजाब की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार की नीति और नीयत पर भी है। वायरल वीडियो को लेकर छात्राओं ने प्रदर्शन किया तो तुरंत महिला पुलिस अफसरों को स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) बना दी गई। आखिर यह SIT कर क्या रही है?। इतने संवेदनशील मामले की जांच इतनी ढीली क्यों है?। सरकार जांच करवा रही है या मामला ठंडा होने तक दबा रही है?।

वीडियो केस में यह 3 आरोपी पहले पकड़े गए।

वीडियो केस में यह 3 आरोपी पहले पकड़े गए।

चिंता इसलिए … क्योंकि छात्राएं अभी भी खौफ में

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी वीडियो लीक केस का सच बाहर आने की इतनी जल्दी क्यों?.. ऐसा इसलिए क्योंकि यह वहां पढ़ने वाली हजारों छात्राओं की आबरू से जुड़ा केस है। छात्राएं अब भी खौफ में हैं कि कहीं अचानक उनकी ही नहाते हुए की वीडियो उनके मां-बाप या बाजार में न पहुंच जाए।

छात्राएं पढ़ाई का नुकसान होने के डर से यूनिवर्सिटी लौट रही हैं लेकिन उनमें और मां-बाप सहमे हुए हैं कि कहीं उनकी वीडियो न आ जाए। यह चिंता दूर करने की जिम्मेदारी पंजाब पुलिस और पंजाब सरकार की है, जो फिलहाल ‘जांच’ के अलावा दूसरा कोई शब्द मुंह से निकालने को राजी नहीं हैं।

इन वीडियो के सामने आने के बाद कहा गया कि कुछ छात्राओं ने सुसाइड की कोशिश की लेकिन पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने इसे नकार दिया।

इन वीडियो के सामने आने के बाद कहा गया कि कुछ छात्राओं ने सुसाइड की कोशिश की लेकिन पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने इसे नकार दिया।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी VIDEO केस- इन 11 पॉइंट्स से समझिए, अब तक क्या हुआ?

  • 18 सितंबर छात्राओं ने हॉस्टल वार्डन से शिकायत की कि एक छात्रा ने उनकी वीडियो बनाई है। आरोपी छात्रा ने दूसरी छात्राओं और वार्डन से पूछताछ में इसे कबूला और कहा कि मैंने वीडियो बनाकर शिमला के सन्नी को भेजी हैं।
  • दिन भर यूनिवर्सिटी ने कार्रवाई नहीं की तो रविवार तड़के सुबह 3 बजे लड़कियों ने हंगामा कर दिया। रविवार को जब हॉस्टल में लड़की से पूछताछ की गई तो उसने अपने मोबाइल पर लड़के की फोटो दिखाई थी। कहा था कि इसने प्रेशर डाला था। यह फोटो रंकज वर्मा की थी।
  • इसी दौरान 8 लड़कियों ने खुदकुशी की कोशिश की। छात्राओं ने भी यह दावा किया। हालांकि यूनिवर्सिटी प्रबंधन और पुलिस ने इस बात को अफवाह करार दिया।
  • सुबह पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने बिना फॉरेंसिक जांच के दावा कर डाला कि किसी दूसरी लड़की के वीडियो वायरल नहीं हुए। लड़की ने सिर्फ अपनी फोटो लड़के को भेजी।
  • इस मामले में लड़की के खिलाफ IT एक्ट और दूसरों की प्राइवेसी भंग करने का आरोप लगा केस दर्ज कर लड़की को गिरफ्तार कर लिया गया।
  • हिमाचल पुलिस की मदद से पंजाब पुलिस ने सन्नी मेहता को रोहड़ू और रंकज वर्मा को शिमला के ढली से गिरफ्तार कर लिया। दोनों को पंजाब लाया जा चुका है।
  • पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रबंधन की बातों और कार्रवाई से असंतुष्ट छात्र-छात्राओं ने रविवार शाम को फिर चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन शुरू कर दिया।
  • रात 1.30 बजे यूनिवर्सिटी प्रबंधन और प्रशासन ने छात्राओं की मांग पर हॉस्टल वार्डनों के खिलाफ कार्रवाई कर एक हफ्ते की छुट्‌टी कर दी।
  • कुछ दिन पहले पुलिस ने अरुणाचल प्रदेश से फौज के जवान संजीव सिंह को गिरफ्तार किया। उस पर शक है कि वही छात्रा से वीडियो मंगवाता था। उसी ने रंकज वर्मा की फोटो डीपी पर लगाई थी।
  • पुलिस ने आरोपी छात्रा, सन्नी और रंकज का पहले 7 और फिर 5 दिन का रिमांड लिया। फौजी संजीव भी 5 दिन के रिमांड पर है। इसके बावजूद जांच में अब तक क्या निकला? पंजाब पुलिस कुछ नहीं बता सकी।
आरोपी छात्रा और रंकज की फोटो लगे अकाउंट के बीच हुई वॉट्सऐप चैट।

आरोपी छात्रा और रंकज की फोटो लगे अकाउंट के बीच हुई वॉट्सऐप चैट।

सन्नी मेहता की सफाई, आरोपी छात्रा को ब्लॉक कर चुका

जिस सन्नी मेहता को आरोपी छात्रा का ब्वॉयफ्रैंड बताया जा रहा है, उसका कहना है कि उनके बीच झगड़ा हो गया था। जिसके बाद उसने आरोपी छात्रा को ब्लॉक कर दिया। उसे कोई वीडियो नहीं भेजी गई।

आरोपी छात्रा ने कहा कि उसे ब्लैकमेल कर दूसरी छात्राओं के वीडियो मांगे जा रहे थे।

आरोपी छात्रा ने कहा कि उसे ब्लैकमेल कर दूसरी छात्राओं के वीडियो मांगे जा रहे थे।

रंकज वर्मा ने कहा – मेरी फोटो मिसयूज हुई

दूसरे आरोपी रंकज वर्मा ने कहा कि मेरी फोटो मिसयूज की गई। जिस नंबर पर मेरी फोटो लगी, वह मेरा नहीं है। मेरा टूर एंड ट्रैवल्स का बिजनेस है, इसलिए सोशल मीडिया अकाउंट्स लॉक नहीं किए?। जिस वजह से फोटो कॉपी कर दूसरे व्यक्ति ने यूज कर ली।

छात्रा ने सुनाई ब्लैकमेलिंग की कहानी

आरोपी छात्रा ने कहा कि उसे ब्लैकमेल किया जा रहा था। उसकी वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर दूसरी लड़कियों के नहाते हुए अश्लील वीडियो मंगवाए जा रहे थे। हालांकि पुलिस ने अभी इस बयान की पुष्टि नहीं की।

Back to top button
%d bloggers like this: