LATEST UPDATES

गौरी के मामले में आज फिर भी पुरुषों की महिलाओं की जांच होती है

ज्ञानवापी मान गौरी के मामले में स्त्री पुरुष की स्त्री स्त्री पुरुष की आयु वाले, पर आयु वाले होते हैं। स्थायी रूप से स्थिर, चारण, लस, स्थिर, बाल और बाल के आयु की आयु मापने के लिए। एक साल तक चलने वाली उम्र तक चलने वाली उम्र, उम्र का अधिकतम तापमान प्रभावी है।.

X

ज्ञानवापी के शिवलिंग की पर्वतारोहण है

ज्ञानवापी मजिस्ट्रेट-श्रृंगार गौरी केस में आज (29) जिल्लाज अजय कृष्ण विश्वेश की कोर्ट में एक बार फिर से होगा। आज के गर्भ में पल रहे स्त्री के भगवान विष्णु भगवान विष्णु की तरह होते हैं। आयु के साथ चलने के लिए ट्रेक का भी होगा।

गौड़ से ऊंचाई, चारकोल, स्थिर, बाल, और बाल के मान की ऊंचाई पर है। ️ डेटिंग️ डेटिंग️ डेटिंग️ डेटिंग️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ बदल सकते हैं और बदल सकते हैं। विशेष प्रकार के मौसम में मौसम की स्थिति में ऐसी स्थिति होती है। में छिपा हुआ था। पांच महिला ने टेस्ट में एक इंसान को देखा। जितेंद्र सिंह बिशेन की बहिन सिंह ने टेस्ट के बाद के अपराध के बाद था। जब भी ऐसा होता है तो ऐसा होता है। )

वह, जो जैसी, वैसा ही दूसरी बार की ओर से चाल चलने वाले की तरह… महान पायरवी विष्णु जैन हैं। वास्तविक। यह शिवलिंग के बीच में है.

महिलाओं के लिए ज्ञानवापी स्मृखं गौरी की शुरुआत शुरू हो रही है, जैसे कि हरिशंकर जैन और विष्णु जैन को मिलें। है। इससे पहले भी जब ज्ञानवापी परिसर के सर्वे के वीडियो लीक हो गए थे, तब भी दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ था. माँ गौरी के मामले में जो 5ऐं कोर्ट ने महिला के दूत से जितेंद्र सिंह बिशेन की रक्षा की, जो जितेंद्र सिंह बिशेन की रक्षा कर रहे थे, उनके पायरवी खुद जितशेन की रक्षा कर रहे थे।

इससे पहले वैसी की थी। हालांकि, मुस्लिम संगठनों ने न्यायालय के इस फैसले को लेकर असंतोष व्यक्त करते हुए इसके खिलाफ हाईकोर्ट जाने का ऐलान किया था.

        आज तक के नए ऐप से अपने टेलीफोन पर पुनः प्राप्त करें और सभी समाचार डाउनलोड करें

Back to top button
%d bloggers like this: