POLITICS

गुजरात और तेलंगाना में बारिश का कहर, नदियों में ऊफान, शहरों में जलजमाव; स्कूल-कॉलेज बंद करने के आदेश

गुजरात और तेलंगाना में बारिश का कहर, नदियों में ऊफान, शहरों में जलजमाव; स्कूल-कॉलेज बंद करने के आदेश

अहमदाबाद में रविवार को भारी बारिश हुई, जिससे कुछ नदियों का जलस्तर बढ़ गया.

नई दिल्ली:

दक्षिण पश्चिम मानसून के कारण लगातार हो रही बारिश के कारण गुजरात और तेलंगाना में बाढ़ जैसी स्थिति उत्तपन्न हो गई है. दक्षिण और मध्य गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश होने से कुछ नदियों का जलस्तर बढ़ गया और विभिन्न निचले इलाकों में पानी भर गया, जिसके कारण 1,500 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी.

बहुत भारी बारिश होने का पूर्वानुमान

मौसम विभाग ने दक्षिण गुजरात के डांग, नवसारी और वलसाड जिलों में अगले पांच दिन में भारी से बहुत भारी बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है. अधिकारियों ने बताया कि ओरसांग नदी का जलस्तर बढ़ने के बाद वलसाड के कुछ निचले इलाकों में बाढ़ आ गई. कावेरी और अंबिका नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं, इसलिए नवसारी जिले के अधिकारी भी अलर्ट पर हैं.

इधर, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने रविवार को स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशंस सेंटर के जिला कलेक्टरों के साथ बैठक कर छोटाउदेपुर समेत दक्षिण गुजरात में भारी बारिश के कारण पैदा हुए हालात से निपटने के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा की. अहमदाबाद में रविवार को भारी बारिश हुई, जिससे कुछ नदियों का जलस्तर बढ़ गया, जिससे विभिन्न निचले इलाकों में पानी भर गया. इसे देखते हुए स्कूल-कॉलेज बंद रखने की इजाजत दी गई है.

नदियों के फल्ड गेट उठाए गए

तेलंगाना में गोदावरी और कृष्णा नदियों का जलस्तर बढ़ गया, जिसके बाद इन नदियों के फल्ड गेट उठाए गए. वहीं, हैदराबाद, उस्मानसागर और हिमायतसागर में जुड़वां जलाशयों के शिखा द्वार भी कल शाम उठाए गए. बारिश के कारण उत्तरी तेलंगाना में कुछ स्थानों पर सड़कें क्षतिग्रस्त हो गईं हैं. 

लगातार हो रही बारिश के कारण आईएमडी ने 13 जुलाई तक रेड अलर्ट बढ़ा दिया है. आठ उत्तर और पूर्वोत्तर जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है. इधर, आदिलाबाद, आसिफाबाद, मंचेरियल, निर्मल, निजामाबाद, जगतियाल, पेद्दापल्ली, भूपालपल्ली, मई में 20 सेंटिमीटर से अधिक बारिश हुई है. इधर, कर्नाटक में भी बारिश को लेकर रेड एलर्ट किया गया है. अलर्ट तटीय कर्नाटक, दक्षिण कन्नड़, उडुपी और उत्तर कन्नड़ सहित कुछ अन्य जिलों के लिए है. ऐसे में इन सभी जिलों में स्कूलों और कॉलेजों में अवकाश घोषित किया गया है. 

यह भी पढ़ें –


LPG के बाद दिल्ली वालों को महंगी बिजली का ‘झटका’ ! PPA में बढ़ोतरी के बाद बढ़ सकता है बिल


जापान के पूर्व PM शिंजो आबे की हत्या भारत में ‘अग्निपथ योजना’ के संभावित नुकसान का संकेत: TMC

Back to top button
%d bloggers like this: