POLITICS

गाइडलाइंस के उल्लंघन पर सख्ती: वैक्सीनेशन के लिए हेल्थकेयर और एयरलाइन वर्कर्स के नए पंजीकरण पर रोक लगी, केंद्र सरकार ने राज्यों को चिट्ठी लिखी।

केंद्र सरकार ने हेल्थकेयर और एयरलाइन वर्कर्स के वैक्सीनेशन के लिए होने वाले नए पंजीकरण पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। सरकार ने इसके लिए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को निर्देश जारी किया है।

सरकार को ऐसी शिकायतें मिली थीं कि हेल्थकेयर और एयरलाइन वर्कर्स के नाम पर कुछ ऐसे लोग वैक्सीन के लिए पंजीकरण करवा रहे हैं, जो इसके क्राइटेरिया में नहीं आते हैं। केंद्र ने इसे वैक्सीनेशन गाइडलाइंस का उल्लंघन बताते हुए यह कदम उठाया है। 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का पंजीकरण जारी रहेगा राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखित खत में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा है कि 45 साल या उससे ज्यादा उम्र के लोगों का पंजीकरण CoWIN पोर्टल जारी करेगा। उन्होंने बताया कि पहले हेल्थ कैर वर्कर्स का पंजीकरण 25 फरवरी को और एयरलाइन वर्कर्स का 6 मार्च को बंद किया जाना था। इस पर वैक्सीन ऐडमिनिस्ट्रेशन का काम देख रही नेशनल एक्सपर्ट्स ग्रुप (NEGVAC) की शनिवार को हुई बैठक में राज्य के अधिकारियों और एक्सपर्ट्स से चर्चा की गई। ग्रुप ने नए पंजीकरण बंद करने की सिफारिश की है। पात्र ) शनिवार तक देशभर में वैक्सीन के 7.44 करोड़ डोज दिए गए हैं। 78 वें दिन रात 8 बजे तक 13 लाख से ज्यादा लोग को वैक्सीन लगाई गई। रिपोर्ट के अनुसार शनिवार को 11,86,621 लोगों को पहले और 1,13,525 को दूसरी खुराक दी गई। टोटल वैक्सीनेशन की बात करें तो अब तक 6,43,51,716 लोगों को फर्स्ट और 1,00,90,551 लोगों को सेकेंड डोज दी जा चुकी है। 1 अप्रैल से शुरू हुआ वैक्सीनेशन का तीसरा फेज भारत में दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरुआत 16 जनवरी से की गई थी। शुरुआत में वैक्सीनेशन सिर्फ हेल्थ वर्कर्स का किया गया। बाद में इसमें एयरलाइन वर्कर्स को भी जोड़ा गया। 1 मार्च से दूसरे फेज में 60 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को और 45 साल से ज्यादा की बीमारी से ग्रसित लोगों को वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हुआ। केंद्र सरकार ने 1 अप्रैल से तीसरे फेज में 45 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को वैक्सीनेशन कार्यक्रम में शामिल किया है।

Back to top button
%d bloggers like this: