POLITICS

क्या डॉक्टरों की सांसद से मौत:बेटे का आरोप

टूटने केक्या डॉक्टरों की सांसद से मौत:बेटे का आरोप- पंप करने पर सांस ले रहे थे, डॉक्टर बोले- हम जानते हैं कि क्या करना है, किनारे हो जाओ

सुनील राणा/विवेक शर्मा, जालंधरएक घंटा पहले

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में जालंधर से कांग्रेस सांसद चौधरी संतोख सिंह के निधन पर उनके विधायक सूरज विक्रमजीत चौधरी ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि एंबुलेंस में ले जाने वाले पिता पंपों में सांस ले रहे थे। तभी वहां मौजूद डॉक्टरों ने कहा कि किनारे हो जाओ, वी नो हाऊ टू डू इट। उनके पास इमरजेंसी शॉक का भी कोई सामान नहीं था। वहां के डॉक्टर बड़ी हड़बड़ी में थे। जिंदगी में उनका सिर्फ झूठ आंख का ऑपरेशन धोखा था।

सांसद के बेटे के दावे पर सर्जनात्मक बोले- 2 बार शॉक दिया
सांसद के विक्रमजीत के घोटाले पर दैनिक भास्कर ने जालंधर के सिविल सर्जन डॉ. रमन शर्मा ने बात की। उन्होंने कहा कि सिविल अस्पताल में राहुल गांधी के साथ चल रही एंबुलेंस चल रही है। इसे राहुल गांधी की सुरक्षा में लगे विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) से मान्यता प्राप्त है। पीएम नरेंद्र मोदी के साथ भी यही एंबुलेंस चली थी। यह बेस्ट एंबुलेस है।

प्रथम श्रेणी की स्थिति में है। मेडिकल सुपरिटेंडेंट की तरफ से यह एंबुलेंस दी गई है। इसमें कोई कमी नहीं है। उन्हें 2 बार शॉक भी दिया गया। एंबुलेंस में एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम है। एंबुलेंस में 5 विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम है। उनके हार्ट में टीका भी लगाया गया। अपने बेटे के सामने ही उन्हें शॉक दिया।

अस्पताल में 20 मिनट लगे
चौधरी संतोख सिंह दिल का दौरा देखते ही नीचे गिर गए। उन्हें तुरंत एंबुलेंस में रखा गया। अस्पताल में जाने में करीब 15 से 20 मिनट का समय लगा। इस रास्ते पर शुरुआत के बाद ज्यादा जाम नहीं था। पुलिस राहुल ने गांधी की भारत जोड़ो यात्रा की वजह से रूट को सबसे पहले साफ किया था।

हार्ट के अटैक के बाद सांसद सांसद संतोख सिंह को इसी एंबुलेंस में अस्पताल ले जाया गया।

हार्ट के अटैक के बाद सांसद सांसद संतोख सिंह को इसी एंबुलेंस में अस्पताल ले जाया गया।

सुबह अपने लिए चाय बनाई
विक्रमजीत ने कहा कि आज सुबह ही उन्होंने आपके लिए चाय बनाई। मैं रात को 2:00 बजे भेजता हूं तो उन्होंने कहा कि सुबह 4:00 बजे तो जाना ही है, अब क्या सोना है। उन्होंने मुझे कहा कि कुछ धार्मिक अनुयायी राहुल गांधी से मिलवाना है। उनका पास गाड़ी नहीं है, जिसके बाद मैंने गाड़ी का अख्तियार कर लिया।

विक्रमजीत ने बताया कि पिता संतोख मॉर्निंग टी खुद ही बनाते थे। वे ठीक 5 बजे जिम पहुंच जाते थे। मेरे पिता के बारे में तब पता चला, जब मुझे विजय इंदर सिंगला ने पीछे से आवाज दी कि मारी कि अंकल गिर गए।

यह तस्वीर राहुल गांधी ने ट्वीट की, जो सांसद के निधन से पहले आज सुबह है।  इसमें वे अलग-अलग धर्मों की आस्थाओं को लेकर राहुल गांधी से मिलवाने गए थे।

यह तस्वीर राहुल गांधी ने ट्वीट की, जो सांसद के निधन से पहले आज सुबह है। इसमें वे अलग-अलग धर्मों की आस्थाओं को लेकर राहुल गांधी से मिलवाने गए थे।

जिला प्रशासन की एंबुलेंस थी
जिस एंबुलेंस में सांसद को अस्पताल भेजा गया, वह जिला प्रशासन की थी। विधायक बेटे के बयान के बाद अब पंजाब की आम आदमी पार्टी सरकार पर भी सवाल खड़े हो गए हैं कि उन्होंने यात्रा के दौरान किस तरह की आपातकालीन स्वास्थ्य व्यवस्था दी?

फिटनेस का खास ध्यान रखने वाले संतोख सिंह रोज जिमिंग करते थे।  अपने वजन को लेकर भी काफी सतर्क रहते थे।  एक फिक्स कैलोरी ही बर्न करते हैं।

फिटनेस का खास ध्यान रखने वाले संतोख सिंह रोज जिमिंग करते थे। अपने वजन को लेकर भी काफी सतर्क रहते थे। एक फिक्स कैलोरी ही बर्न करते हैं।

खुद को फिट रखने का शौक था
संतोख सिंह की उम्र 76 साल थी, लेकिन जोश और एनर्जी इतनी थी कि आज के नौजवान भी पीछे छोड़ देते थे। वे फिटनेस पर काफी ध्यान देते हैं। 76 साल की उम्र में भी जिम लेवर थे। जहां आज के राजनेता खादी में नजर आते हैं, वहीं संतोख सिंह लोअर और टी-शियर तक पहुंच गए थे। इतने समझदार थे कि बार-बार दुर्घटनाग्रस्त होकर उन्हें याद करते हुए कहते थे कि कुछ तो उम्र का लांघ गया करो। आजकल के नौजवान चैटिंग करते हैं।

घर में ही जिम बना है। वे रोज 30 मिनट जिम में डैमेज हुए थे। इसके बाद 10 मिनट ब्रिस्क वॉक करते थे। वजन तोलना उनके रोज का रूटीन था। जिम या वर्कआउट करते समय कितना कैलोरी खर्च करते हैं, इसका खास ध्यान रखें। सुबह 5 बजे ही जिम पहुंच जाते थे।

सांसद पिता संतोख सिंह के साथ विधायक सूरज विक्रमजीत चौधरी।  (फाइल फोटो)

सांसद पिता संतोख सिंह के साथ विधायक सूरज विक्रमजीत चौधरी। (फाइल फोटो)

सप्ताह में एक या दो दिन का गोल्फ खेला गया था
संतोख सिंह गोल्फ खेलने के भी शौकीन थे। वे सप्ताह में एक या दो दिन का गोल्फ खेलना निश्चित रूप से बन जाते हैं। उन्हें पढ़ने के शौक़ीन थे। रोज रात को सोने से पहले बुक रीडिंग करते थे। उनका पसंदीदा विषय इतिहास था। वे इतिहास से जुड़ी वेब सीरीज भी देखते थे। जगजीत सिंह की गजलें सुनने का शौक संतोख सिंह को था। दिन में जब भी समय मिलता था, वे जगजीत सिंह, दास अली और दास हसन की गजलें देख रहे थे।

पत्नी के लिए ब्रेकफास्ट कर अपना पसंदीदा काम करें
पत्नी के लिए ब्रेकफास्ट बनाना संतोख सिंह का पसंदीदा काम था। जब भी समय मिलता है, वे और उनकी पत्नी दोनों के लिए पसंदीदा खाना जरूर बना लेते हैं। संतोख सिंह पूरी तरह नॉन वेजेटेरियन थे, लेकिन आमलेट गजब का इस्तेमाल करते थे। उनका मानना ​​था कि इंसान को दोपहर में ही पूरा खाना खा लेना चाहिए, उसके बाद नाश्ते में और रात को लॉग खाना बेहतर होता है, इससे शरीर ओवर ईटिंग नहीं करता, हाजमा ठीक रहता है।

ये खबरें भी पढ़ें…

सांसद संतोख सिंह के बेटे ने कहा:गोल्डन ऑवर में सीपीआर दे तो बचाओ पापा की जान; सीपीआर क्या है

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में जालंधर कांग्रेस सांसद चौधरी संतोख सिंह के निधन पर उनके विधायक बेटे विक्रमजीत चौधरी ने कहा कि एंबुलेंस में ले जाने वाले अधीर पापा पंप करने पर सांस ले रहे थे। मगर डॉक्टरों के पास इमरजेंसी शॉक का कोई सामान नहीं था। वहां के डॉक्टर बड़ी हड़बड़ी में थे।

इसका सीधा मतलब है कि सांसद को गोल्डन ऑवर में अगर सीपीआर भी दिया जाता है तो उनकी जान बच सकती है। आज जरूरी खबर में जानेंगे कि गोल्डन ऑवर क्या होता है, इस बार सीपीआर देना बहुत जरूरी है, सीपीआर दिया कैसे जाता है और इसे देने में क्या गलतियां कर सकते हैं? पढ़ें पूरी खबर

जालंधर से मौजूदा सांसद थे…जानिए संतोख सिंह के बारे में

संतोख सिंह जालंधर से मौजूदा सांसद थे। वह दूसरी बार सांसद बनकर 2019 लोकसभा में पहुंचे थे। इससे पहले उन्होंने 2014 में जीत दर्ज की थी। 1978 में अपना राजनीतिक सफर पंजाब युवा कांग्रेस नेता के तौर पर शुरू किया। 1978 से 1982 तक वह पंजाब यंग कांग्रेस के सीनियर वाइसिस रहे। 1987 से 1995 तक जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के अध्यक्ष बने। 1992 में पहली जीत दर्ज करने के बाद पंजाब कांग्रेस के विधायक दल की महासचिव के रूप में फिर गए।

1992 से 1995 तक ग्रामीण विकास और पंचायतों का प्रभार, जिले कार्य और विद्युत विभाग के मुख्य सदस्य सचिव बने। बाद में उन्हें पंजाब सरकार में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और भोजन और नागरिक आपूर्ति मंत्री, कैबिनेट मंत्री रहे। पढ़ें पूरी खबर

भारत जोड़ो यात्रा में कांग्रेस सांसद का निधन:राहुल गांधी के साथ गंभीर चोट लगने से दिल का दौरा पड़ा, पंजाब में यात्रा रोकी गई

पंजाब में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शनिवार को जालंधर से कांग्रेस सांसद संतोख सिंह का निधन हो गया। उन्हें हार्ट अटैक आया। इसके बाद उन्हें फौरन फगवाड़ा के अस्पताल में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने कहा कि उनकी मौत का रास्ता जाम हो गया है। पूरी खबर पढ़ें

भारत जोड़ो यात्रा में सांसद संतोख चौधरी का निधन:पंजाब सरकार में मंत्री रहे, जालंधर से दूसरी बार सांसद चुनाव जीते, बेटा भी विधायक

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान जालंधर से कांग्रेस सांसद चौधरी संतोख सिंह की हार्ट अटैक से मौत हो गई। उन्हें मारने के तुरंत बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनकी मौत की खबर मिलने के तुरंत बाद राहुल गांधी यात्रा के बीच में ही उन्हें देखने के लिए रवाना हो गए। पूरी खबर पढ़ें

सांसद संतोख चौधरी के निधन पर श्रद्धांजलि:पीएम मोदी बोले- कांग्रेस विचारधारा के लिए समर्पित नेता; राहुल गांधी ने कहा- जमीन से जुड़े मेहनती नेता

पंजाब में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी के साथ चल रहे सांसद संतोख चौधरी का निधन हो गया। चलते-चलते उन्हें हार्ट अटैक आ गया। मौत की खबर फैलते ही कांग्रेस में शोक की लहर है, वहीं क्लिक भगवंत मान ने भी ट्वीट कर शोक व्यक्त किया है। सांसद चौधरी 76 साल के थे और दूसरी बार जांजंधर से सांसद चुने गए थे। पढ़ें पूरी खबर…

पंजाब में सांसद संतोख चौधरी का निधन, तस्वीरें:भारत जोड़ी यात्रा में राहुल गांधी के साथ मारपीट, दिल का दौरा पड़ने से गिरे

पंजाब में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शनिवार को जालंधर से कांग्रेस सांसद संतोख सिंह का निधन हो गया। संतोख गांधी के साथ चल रहे थे। अचानक उन्हें हार्ट अटैक आया। इसके बाद उन्हें फौरन फगवाड़ा के अस्पताल में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने कहा कि उनकी मौत का रास्ता जाम हो गया है। पूरी खबर पढ़ें

Back to top button
%d bloggers like this: