POLITICS

कोरोना परिस्थिति गहराया: पंजाब के 81% सैंपल टेस्टिंग में मिली कोरोना का यूके वैरिएंट; राजस्थान के मुख्यमंत्री बोले

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय

    • यूके कोरोनावायरस स्ट्रेन इन राजस्थान पंजाब न्यूज, COVID केस अपडेट; कैप्टन अमरिंदर सिंह, नरेंद्र मोदी, अशोक गहलोत

    विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

    चंडीगढ़ / जयपुर 11 दिन पहले

    • कॉपी नंबर

      देश में कोरोना की दूसरी लहर के बीच पंजाब से डराने वाली खबर आई है। पंजाब से लाइवम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए 401 सैम्पलों में 81% में ब्रिटेन में पाए गए कोरोना वैरिएंट की पुष्टि हुई है। राज्य में अचानक से बढ़े कोरोना के मामलों की वजह इसे माना जा रहा है।

      मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के सलाहकार रवील ठुकराल ने कहा कि सीएम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वैक्सीनेशन कार्यक्रम में 60 से कम उम्र के लोगों को भी शामिल किया जाए। वहीं, रेग के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने बेंगलुरु के डॉ। देवी शेट्टी की सलाह का उदाहरण देते हुए कहा कि डॉ। शेट्टी की यह राय उचित लगती है कि 20 से 45 साल के लोगों को भी जल्द वैक्सीन दी जानी चाहिए, क्योंकि ये लोग अपने काम से घरों से बाहर रहते हैं और सुपर स्प्रेडर बन सकते हैं। भारत के पास बड़ी संख्या में वैक्सीन उत्पादन की क्षमता भी उपलब्ध है, जिसका इस्तेमाल होना चाहिए। गेहलोत ने केंद्र से पर्याप्त वैक्सीन मांगी
      पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन प्रेषक की मांग करते हुए वैक्सीनेशन में एज ग्रुप की सीमा हटाकर सभी कोके लगाने का सुझाव दिया गया। उन्होंने लिखा, ‘देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में अधिक से अधिक वैक्सीनेशन से ही जनता कोरोना से सुरक्षित हो सकेगी। ‘ कहा कि अगर कोरोना की दूसरी लहर पर ओवर नहीं पाया जा रहा है, तो हमें फिर से लॉकडाउन की ओर जाना पड़ेगा, जो आम आदमी की आजीविका के लिए बहुत ज्यादा घातक हो सकता है। शेट् टीटी ने लॉकडाउन के फायदे को खारिज किया कार्डियक सर्जन डॉ। शेट्टी कहते हैं कि पहले लॉकडाउन से देश को बदतर हालात से बचा लिया गया, लेकिन अब उस विकल्प को फिर से चुनने से कोई फायदा नहीं होगा। दूसरा लॉकडाउन कोई नई तैयारी का मौका नहीं होगा और जब लॉकडाउन ओपनगा, तब वायरस हमला करने के लिए तैयार बैठा होगा।

      उन्होंने कहा कि यदि हम युद्ध स्तर पर वैक्सीनेशन कार्यक्रम चले और 20 से 45 साल के लोगों को भी डोज दें, तो अगले 6 महीने में कोरोना पर बहुत हद तक अंकुश लगाया जा सकता है। यही आयु वर्ग है, जो सबसे ज्यादा अंतर को फैला रहा है।

      पंजाब में लगातार 6 वें दिन 2 हजार से ज्यादा केस आए 6 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। यहां सोमवार को 2,299 लोग कोरोना क्षमता मिले और 1,870 मरीज ठीक हुए और 58 की मौत हो गई। राज्य में अब तक 2.15 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 1.90 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 6,382 किस्मों ने जान गंवाई है। अभी तक 18,628 मरीजों का इलाज चल रहा है।

      Back to top button
      %d bloggers like this: