POLITICS

कोरोना की सेकेंड वेव के दौरान मरीजों के परिजनों से करते थे ठगी, 366 आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे

कोरोना की सेकेंड वेव के दौरान मरीजों के परिजनों से करते थे ठगी, 366 आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे

इस मामले में 1 महीने में तकरीबन 600 एफआईआर (FIR) दर्ज की गई है

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान कोरोना वायरस की सेकंड वेव (Corona Second Wave) में कोविड-19 (Covid 19) मरीजों के परिजनों के साथ ठगी करने के आरोप में 366 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है. वहीं इस पूरे 1 महीने में तकरीबन 600 एफआईआर (FIR) दर्ज की गई है और 1150 मोबाइल सिम कार्ड ब्लॉक किए गए हैं वही इन आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच साइबर सेल और जिला पुलिस की अलग-अलग 50 से ज्यादा टीमें काम कर रही थी.

यूज हुए सर्जिकल ग्लव्स की दिल्ली में होती थी सप्लाई, 3 लोग गिरफ्तार

इन आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस ने 480 से ज्यादा बैंक खाते सील किए हैं. इन खातों में तकरीबन एक करोड़ 19 लाख रुपए जमा थे जो दिल्ली पुलिस ने फ्रीज़ करवा दिए हैं ताकि आरोपी इन पैसों को बैंक खातों से ना निकाल सके. इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने ऐसे 250 मोबाइल नंबरों की पहचान की है जो कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे थे मदद देने के नाम पर.

दिल्ली : बाउंसर लेकर चलता था BJP का युवा नेता! ऑक्सीजन सिलेंडर देने के नाम पर लोगों को ठगा

दिल्ली पुलिस ने कोरोनावायरस के दौरान जिन लोगों के साथ फ्रॉड हो रहा था उनके लिए बकायदा दिल्ली पुलिस की कोविड-19 लाइन भी शुरू की थी ताकि लोग पीड़ित अपने साथ हुई ठगी की जानकारी दिल्ली  पुलिस को आसानी से दे सकें.

कोरोना मरीजों की मदद के नाम पर राजनीति करने वाले नेताओं पर हाईकोर्ट की कड़ी टिप्पणी

Back to top button
%d bloggers like this: