POLITICS

कुतुबमी नार या विष्णु:संस्कृति लेख का वैज्ञानिक को निर्देश, कुतुबमी नर में दर्ज करें I

राष्ट्रीयसंस्कृति मंत्रालय भारतीय एएसआई को विवाद के बाद कुतुब मीनार परिसर की खुदाई करने के लिए कहते हैं

नई दिल्ली एक सचेतन

दिल्ली की साकेत में विज्ञान विभाग की पहली संस्कृति ने विज्ञान की स्थापना की से कुतुबमीं को मारने के लिए। भविष्य के लिए यह भी है। डेटा के साथ कहते हैं।

खबर में प्रक्रिया से पहले। )

रिपोर्ट के अनुसार कुतुबमीनार के पास जांच से 15 मीटर की दूरी पर। उच्च गुणवत्ता वाले प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए. कुतुबमीनार में 1991 में काम हुआ था।

कुतुबमीनार की स्थिति का मुख्य सप्‍ताह को एएसआई के लिए मौसम का दौरा।

एएसआई के पूर्व रीजनल ने दावा किया भारत ने दावा किया है कि ऐबक ने ऐबक नेवडया था।

पूर्व एएसआई के 3 बड़े…

1. कुतुब मिनार, सनयह कुतुब मिनार, सनम है। मेरे करीबी इस बात को पुख्ता करते हैं. शर्मा ने एएसआई की तरफ से जांच की।। 2. मिना के हिसाब में 25 इंच का झुकाव
क्रिया कहा, ‘कुतुब मिना के 25 इंच में टिल्टन (झुकाव), सूर्य का हल सुनाने के लिए। इसीलिए यह विज्ञान और डीएनए भी है।’
3. शाम को ध्रुव तारा देखा गया था
शर्मा ने दावा किया कि कुतुब मीनार एक स्वतंत्र यह अच्छी तरह से है। दरअसल, इसके दरवाजे नॉर्थ फेसिंग हैं, ताकि इससे रात में ध्रुव तारा देखा जा सके।

दिल्ली में वेबसाइट के अनुसार, कुतुब मीनार को 1193 में दिल्ली के मुसलिम गवर्नर कुतब-उद-दीन ऐबक ने बनाया था। दी कोर्ट में बोलेंगे दिल्ली के साकेत में 17 मई को कुतुबमीनार मंत्र में पूजा होगी। इस खेल पर 24 मई को है। Vayas हिंदू फ e फ ने 2022 में में में में में की की की की की की न्याय में कहा गया था कि कुतुबमीनार कुव्वत-उल-इस्लाम को हिन्दू और जैन धर्म के रूप में स्थापित किया गया था। इस तरह से जांच की जा रही है।

Back to top button
%d bloggers like this: