POLITICS

किसान नेताओं-भाजपा के बीच पक रही कौन सी खिचड़ी? बीजेपी ने दिया जवाब पर राकेश टिकैत ने कहानी उलझा दी

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत जो कह रहे हैं, वो उनके साथी नहीं कह रहे हैं और जो बीजेपी कह रही है, वो इन दोनों से अलग है।

केंद्र सरकार की ओर से तीनों कृषि बिल वापस लेने के बाद हर तरफ यही चर्चा है कि भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत यूपी चुनाव 2022 में क्‍या रुख अपनाते हैं। क्‍या वह बीजेपी के प्रति नरम रहेंगे या चुनावों में योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलकर बीजेपी की राह का रोड़ा बनेंगे? ये सवाल बेहद अहम हैं और इन सवालों के जवाब पर कम से कम पश्चिमी यूपी के चुनावी नतीजे तो निर्भर करेंगे ही। हालांकि, इन सवालों के जवाब मिलना इतना आसान नहीं है, क्‍योंकि बीजेपी भले ही राकेश टिकैत पर नरम रुख अपनाती दिख रही है, लेकिन टिकैत और उनके साथियों के तेवर देखकर समझ नहीं आ रहा है कि आखिर कौन सी खिचड़ी पक रही है? क्‍योंकि टिकैत जो कह रहे हैं, वो उनके साथी नहीं कह रहे हैं और जो बीजेपी कह रही है, वो इन दोनों से अलग है। चालिए एक-एक करके आपको बताते हैं क्‍या कह रही है बीजेपी, क्‍या कह रहे हैं टिकैत और क्‍या कह रहे हैं टिकैत के साथी:

बीजेपी नेता संजीव बालियान बोले- मैं राकेश टिकैत से समर्थन मांगने जरूर जाऊंगा

पश्चिमी यूपी के जाट वोटों के बारे में बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान से एक टीवी चैनल के पत्रकार ने सवाल पूछा- क्‍या आप किसान नेता राकेश टिकैत से समर्थन मांगने जाएंगे। इस पर संजीव बालियान ने कहा, ‘जिनका आप जिक्र कर रहे हैं (राकेश टिकैत) वो कह चुके हैं कि उनका राजनीति से कोई संबंध नहीं हैं। मैं तो हर बार उनसे वोट मांगने जाता हूं, इस बार भी वोट मांगने जाऊंगा। वो (राकेश टिकैत) हमारे क्षेत्र में रहते हैं, हमारे खाप चौधरी हैं, हम उनसे वोट मांगने क्‍यों नहीं जाएंगे। उन्‍होंने हर बार मुझे वोट करी है, कोशिश करेंगे वो इस बार भी मुझे वोट करें, हम उन्‍हें कनविन्‍स करेंगे।’

राकेश टिकैत के साथी पुष्‍पेंद्र सिंह बोले- बीजेपी से भी चुनाव लड़ने को तैयार

एक तरफ बीजेपी राकेश टिकैत पर नरम पड़ती नजर आ रही है, तो वहीं राकेश टिकैत के साथी ने भी बीजेपी के प्रति उदारता का भाव दिखाया। हाल ही में एक टीवी डिबेट के दौरान ‘आंदोलनजीवियों की दुकान हो गई’ के जवाब में राकेश टिकैत के साथी और किसान नेता पुष्‍पेंद्र सिंह ने कहा कि मांगों को पूरा करवाने के लिए सरकार से लड़ाई लड़नी ही पड़ती है। उन्‍होंने कहा, ‘किसानों को ऐसा नहीं दिखाना चाहिए कि हमने सरकार के विरोध में आंदोलन किया है तो हम किसी और पार्टी के साथ चले जाएंगे। हमें ऐसी छवि नहीं बनानी चाहिए। किसान नेता पुष्‍पेंद्र सिंह से जब पूछा गया कि क्‍या वह मौका मिलने पर बीजेपी से चुनाव लड़ेंगे? तो उन्‍होंने जवाब में कहा कि अगर बीजेपी ने वे सभी वादे पूरे किए जो उसने किए हैं तो मैं बीजेपी से भी चुनाव लड़ने को तैयार हूं।

क्‍या बीजेपी के साथ खिचड़ी पकाने को तैयार हैं राकेश टिकैत?

अब सबसे अहम सवाल का जवाब तलाशते हैं। आखिर राकेश टिकैत क्‍या सोच रहे हैं? मुजफ्फरनगर में जिला पंचायत कार्यालय पर भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के बैनर तले प्रदर्शन किया गया। आरोप है कि विकास कार्यों के लिए 13 पंचायत सदस्‍यों को पैसा नहीं दिया जा रहा है। इसी मुद्दे को लेकर भाकियू कार्यकर्ता विरोध करने लगे। विरोध प्रदर्शन के दौरान मंगलवार को राकेश टिकैत भी पहुंचे। उन्‍होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मैं जानता हूं जिला पंचायत कौन चला रहा है। इस बार के चुनाव में सरकार को भी जनता की गरमाहट का पता चल जाएगा। इस बार जनता भाजपा की धूल उतार देगी।’

तो टिकैत के बयान से साफ लग रहा है कि बीजेपी तो यूपी चुनाव 2022 में राकेश टिकैत के साथ खिचड़ी पकाना चाहती है, लेकिन अभी तक टिकैत के तेवर देखकर स्‍पष्‍ट है कि वह हांडी चढ़ाने को तैयार नहीं हैं। अब जब हांडी ही नहीं चढ़ेगी तो खिचड़ी आखिर पकेगी भी तो कैसे?

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: