POLITICS

कांग्रेस नेता खड़गे की मोदी को सलाह: राहत सामग्री बांटने में प्रवासी मजदूरों की मदद लें, वैक्सीन और मेडिकल इक्विपमेंट पर टैक्स में छूट मिले।

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली 3 घंटे पहले

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद अब पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर दी।] राज्यसभा में विपक्ष के नेता खड़गे ने रविवार को लिखित पत्र में कहा कि सरकार को वैक्सीन और मेडिकल इक्विपमेंट पर टैक्स में छूट देनी चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि वैक्सीनेशन के लिए अलॉट किए गए 35 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे और ये सितमतिच करना चाहिए की देश के हर व्यक्ति का वैक्सीनेशन हो सके। उन्होंने कहा कि विदेशों से आ रही राहत सामग्री को बंटवाने के लिए प्रवासी मजदूरों की मदद ली जानी चाहिए। ये काम मनरेगा के तहत करवाया जाएगा। हाल ही के दिनों में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखने वाले खड़गे तीसरे कांग्रेस नेता हैं।

)

  • वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों को कंपलसरी लाइसेंस दिया जाना चाहिए।
  • मेडिकल से जुड़े आवश्यक सामानों पर टैक्स में छूट मिलनी चाहिए।
  • वैक्सीन पर 5%, पीपीई किट पर 5 से 12%, एरेन्स पर 28% और ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर पर 12% छूट मिली। ।
  • प्रवासी मजदूरों को मनरेगा के तहत 100 की जगह 200 दिन का रोजगार मिला।
  • केंद्र सरकार को तुरंत सभी पक्षों की बैठक बुलानी चाहिए।
  • महामारी से लड़ने के लिए सबकी सहमति से एक ब्लूप्रिंट तैयार हो सकेगा
  • कर्म भूली केंद्र सरकार
    खड़गे ने लिखा है कि ये सब की सहमति को ध्यान में रखते हुए सामूहिक निर्णय लेने का समय है। सिटीजन ग्रुप और सिविल सोसायटी के लोग कोरोना से लंबी लड़ाई लड़ रहे हैं। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि केंद्र सरकार अपने स्लावों का पालन नहीं करती दिख रही है। आम भारतीय आज इस स्थिति में पहुंच गया है कि उसे अपनों का इलाज करने के लिए जमीन, सहजें बेच पड़ रहे हैं। लोगों को अपनी जमापूंजी खर्च करनी पड़ रही है।

    सोनिया ने कहा था- सिस्टम नहीं, मोदी सरकार फेल लिखकर मोदी सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि महामारी के दौर में सिस्टम नहीं बल्कि मोदी सरकार फेल हुई है। केंद्र सरकार रिसोर्स का सही तरीका से उपयोग नहीं कर पा रही है। सोनिया ने कहा था कि पूरे देश में मुक्त वैक्सीनेशन के लिए संसद से 35 हजार करोड़ रुपये का बजट जारी हुआ था। इसके बाद भी मोदी सरकार पहले से परेशान राज्य सरकारों पर जोर डाल रही है। उन्होंने कांग्रेस पार्लियामेंट्री पार्टी की बैठक में ये बातें कहीं। (

    हजारों की मौत, लाखों दर-दर भटक रहे
    से गुजर रहा है। हजारों लोगों की मौत हो चुकी है और लाखों लोग अस्पताल, ऑक्सीजन, वैक्सीन और जीवनरक्षक दवाओं के लिए परेशान हो रहे हैं। हालात, दिल तोड़ने वाले हैं। लोग अस्पताल, अपनी गाड़ियों और सड़क में तक जीवन के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। मोदी सरकार को संक्रमण से मरते लोगों की फिक्र नहीं है। ऐसे समय में लोगों के प्रति सरकार की जिम्मेदारी और बहुत बढ़ जाती है।

    Back to top button
    %d bloggers like this: