POLITICS

ऑक्सीजन संकट से जूझ रहे गोवा के सबसे बड़े कोविड हॉस्पिटल में 4 दिनों में 74 मरीजों की मौत

ऑक्सीजन संकट से जूझ रहे गोवा के सबसे बड़े कोविड हॉस्पिटल में 4 दिनों में 74 मरीजों की मौत

गोवा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में लगातार मौतें हो रही हैं.

गोवा:

गोवा के सबसे बड़े मेडिकल फैसिलिटी गोवा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में पिछले 4 दिनों में 74 मरीजोंं की मौत हो गई है. जानकारी है कि कथित रूप से ये सारी मौतें मेडिकल ऑक्सीजन की कमी से हुई हैं. बता दें कि अकेले गुरुवार की रात को ही गोवा के अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से 13 मरीजों की मौत हुई है. यह लापरवाही तब हुई है, जब अभी गुरुवार को ही हाइकोर्ट ने ऑक्सीजन संकट को लेकर राज्य सरकार को चेताया था.

दरअसल, राज्य सरकार की ओर से बताया गया था कि ऑक्सीजन की कमी नहीं है, लेकिन रीफिलिंग के लिए लॉजिस्टिक्स की कमी है. इसपर अदालत ने सख्त टिप्पणी करते कहा था कि ‘हम तकनीकी और लॉजिस्टिक मुद्दों के कारण लोगों को मरने के लिए नहीं छोड़ सकते हैं, जो भी समस्या है ठीक करें और इस बात का ख़याल रखें कि आज रात ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत न हो.’ लेकिन इसके बावजूद उसी रात 13 मरीजों की मौत सरकार पर सवाल खड़े करती है.

COVID-19 Update: Google जल्द दिखाएगा नजदीकी वैक्सीन सेंटर, खाली ऑक्सीजन बेड और बहुत कुछ

कोर्ट ने मांगी है स्टेटस रिपोर्ट

कोर्ट ने अस्पतालों और राज्य प्रशासन से आज शाम 7 बजे तक एक स्टेटस रिपोर्ट फाइल करने को कहा है. इसमें ऑक्सीजन सप्लाई, टैंकों, कॉन्सन्ट्रेटर्स और ड्राइवर्स की उपलब्धता को लेकर जानकारी देनी होगी. बता दें कि गोवा में अभी पॉजिटिविटी रेट 48.1 फीसदी है, इसका मतलब है कि यहां हर दूसरा टेस्ट कोविड पॉजिटिव निकल रहा है.

गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई ने बताया कि शुक्रवार को रात 1 बजे से सुबह 6 बजे के बीच में 13 लोग, गुरुवार की सुबह को 15, बुधवार को 20 और मंगलवार को रात 2 बजे से सुबह 6 बजे के बीच 26 लोगों की मौत हुई है. मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत इस हफ्ते अस्पताल के दौरे पर भी आए थे. उन्होंने कहा था कि ‘मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता और सप्लाई के बीच आए अंतराल के चलते कुछ समस्याएं पैदा हुई हो सकती हैं.’

ऑक्सीजन की कमी से मरने वाले मरीजों के परिजन को मिलेंगे 10 लाख रुपये

गोवा के प्रमुख सचिव ने केंद्र से चिट्ठी लिखकर मांगी है ज्यादा सप्लाई

मुख्यमंत्री ने हाईकोर्ट से जांच की मांग की है. हाईकोर्ट पहले ही महामारी के मैनेजमेंट को लेकर कई याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है. सीएम ने जोर देकर कहा है कि राज्य में ऑक्सीजन सप्लाई की कमी नहीं है. हालांकि, गोवा के प्रमुख सचिव पीके गोयल की केंद्र सरकार को भेजी गई चिट्ठी में उनके इस दावे के उलट बात की गई है. न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, गोयल ने कहा है कि 1 से 10 मई के बीच में गोवा को बस 66.7 मीट्रिक टन ऑक्सीजन ही मिल पाई है, जबकि महाराष्ट्र के कोल्हापुर से गोवा को 110 मीट्रिक टन ऑक्सीजन अलॉट की गई है. कोल्हापुर फिलहाल गोवा को कुल मेडिकल ऑक्सीजन का 40 फीसदी सप्लाई कर रहा है.

गोयल ने अपनी चिट्ठी में आग्रह किया है कि राज्य को कम से एक हफ्ते के लिए रोज 11 की जगह 22 मीट्रिक टन ऑक्सीजन सप्लाई की जाए, ताकि वो कमी की भरपाई कर सके.

Back to top button
%d bloggers like this: