POLITICS

ऐसे 9 आतंकियों की कहानी जिनकी वारदातों ने पूरे देश को हिला कर रख दिया

यह सभी देश की जांच एजेंसियों की मोस्टवांटेड लिस्ट में शामिल हैं। लेकिन आज तक एजेंसियों के हाथ इनसे दूर ही है।

दाउद इब्राहिम कासकर: दाऊद भारत के मोस्टवांटेड अपराधियों की लिस्ट में सबसे ऊपर है। इस आतंकी का पूरा नाम दाउद इब्राहिम कासकर है। जांच एजेंसियां यह मानती है कि दाउद इब्राहिम ही वह आतंकी था जिसने 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट की भूमिका तैयार की थी। इस हादसे में करीब 250 लोग मारे गए और 500 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

हाफिज सईद: जमात उद दावा जैसे आतंकवादी संगठन का संस्थापक हाफिज सईद देश की मोस्टवांटेड लिस्ट में दूसरे नंबर पर है। मुंबई के 26/11 आतंकी हमले समेत साल 2001 में हुए पार्लियामेंट हमले में भी हाफिज सईद का हाथ है। अमेरिका ने भी उस पर 2012 में एक करोड़ अमेरिकी डॉलर का इनाम रखा है।

छोटा शकील: अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम का राइट हैण्ड छोटा शकील भी दाउद की तरह ही 1993 के मुंबई सीरियल बम धमाकों का मुख्य आरोपी है। बताया जाता है कि छोटा शकील ने ही थाईलैंड में छोटा राजन पर हमला करवाया था।

इलियास कश्मीरी: महाराष्ट्र के पुणे में हुए जर्मन बेकरी बम धमाके और कोलकाता के अमेरिकी सेंटर पर हमले का मुख्य किरदार इलियास आतंकवादी संगठन अल कायदा से जुड़ा है। उसने पुणे और कोलकाता में हुए हमलों के अलावा भारत में कई अन्य आतंकी हमलों की भी साजिश रची है।

साजिद मीर: साजिद को कई नाम से जानते हैं, जिनमें साजिद मीर, मेरे साजिद, साजिद-माजिद मुख्य है। साजिद लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर है और मुंबई आतंकी हमले को वही लीड करता था।

मेजर इकबाल: देश के वांछित अपराधियों की लिस्ट में शामिल इकबाल ISI का अफसर है। मुंबई में हुए हमले में गवाही देने वाले डेविड हेडली ने भी पूछताछ में इस बात को स्वीकारा था कि इकबाल ही अटैक का हैंडलर था।

सैयद सलाहुद्दीन: आई नेक्स्ट की खबर की माने तो सैयद सलाहुद्दीन साल 1990 से पहले कश्मीर में कांग्रेस का नेता हुआ करता था। एक बार उसने कश्मीर विधानसभा का चुनाव भी लड़ा लेकिन वह चुनाव हार गया। चुनाव हारने के बाद 5 नवंबर 1990 को वो यूसुफ शाह, सैयद सलाहुद्दीन बन गया और हिजबुल मुजाहिदीन नामक संगठन बनाकर कश्मीर घाटी में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने लगा। पठानकोट एयरबेस स्टेशन पर हमले की जिम्मेदारी सैयद सलाहुद्दीन ने ली थी।

जकीउर रहमान लखवी: आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी जकीउर रहमान लखवी को साल 2008 में संयुक्त राष्ट्र के भारी दबाव के कारण उसे पीओके के मुजफ्फराबाद से पाक सरकार ने गिरफ्तार तो किया लेकिन उसे भारत को नहीं सौंपा। बता दें कि, 26 नवंबर 2008 को मुंबई में हुए आतंकी हमले के मास्टरमांइड लखवी ही था।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: