POLITICS

एशिया की सबसे बड़ी हेलीकॉप्टर प्लांट बनकर तैयार:6 फरवरी को पीएम राष्ट्र को सौंपेंगे, 20 साल में देंगे 1000 से अधिक हेलीकॉप्टर

एशिया की सबसे बड़ी हेलीकॉप्टर फैक्ट्री बनकर तैयार हो गई है। 6 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर्नाटक के आपकुरु में HAL की हेलीकॉप्टर फैक्ट्री देश को सौपेंगे। यह ग्रीनफील्ड फैक्ट्री फैक्ट्री है, जो हेलीकॉप्टर बनाने की क्षमता और इको-सिस्टम को पहचानता है। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि यहां अगले 20 साल में 4 लाख करोड़ के कारोबार के साथ 1000 से अधिक हेलीकॉप्टर बनेंगे।

हर साल बनेंगे 30 हेलीकॉप्टर
615 एकड़ में बनी यह फैक्ट्री शुरुआत में लाइट यूटिलिटी हेलीकॉप्टर (एलयूएच) का उत्पादन करती है। एलयूएच स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित 3-टन वर्ग का एकल इंजन वाला हेलीकॉप्टर है। शुरुआत में ही इस फैक्ट्री में हर साल करीब 30 हेलीकॉप्टर दिखा दें। फिर हर साल इसकी क्षमता 60 से 90 के दर से सींक जा सकती है। अधिकारियों ने बताया कि एलयूएच का फ्लाइट ट्रायल हो गया है।

कर्नाटक के 6000 लोगों को रोजगार मिलेगा
एलयूएच के बाद यहां लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर (एलसीएच) और इंडियन मल्टी रोल हेलीकॉप्टर (आईएमआरएच) का निर्माण करने की भी योजना है। इसके अलावा एलसीएच, एलयूएच, सिविल एएलएच और आईएमआरएच का रिजक्स भी मिलेगा। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि इस फैक्ट्री से प्रदेश में करीब 6000 लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके अलावा आसपास के दायरे में भी बिल्डिंग शुरू होने से भी इवोल्यूशन होगा। 6 फरवरी को ही प्रधानमंत्री बेंगलुरु में भारत ऊर्जा सप्ताह 2023 का उद्घाटन करेंगे। यह 6 से 8 फरवरी तक चलेगा।

Back to top button
%d bloggers like this: