POLITICS

एयर फ़ायर्स अग्निवीर के लिए 94 हजार से अधिक ऐप:5 नवंबर तक पंजीकरण, तारीख़ में रिजल्ट

राष्ट्रीय

  • IAF को चार दिनों में अग्निपथ योजना के तहत 94,000 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए
  • भारतीय वायुसेना के रोग की जांच के लिए 94,281 लागू होते हैं। एक दिन पहले तक 56,960 था। 3000 अग्निवीर की भर्ती करने वाला है। 24 नवंबर को तैयार होने और तैयार होने के लिए। 14 जून को योजना में प्रदर्शन किया गया। पर्यावरण भी केंद्र से बाहर है। 2 फेज में होगी परीक्षाएयर फोर्स 10वीं कक्षा में लागू होने पर या वोकेशनल पाठ्यक्रम भी लागू होने के लिए आवेदन कर सकते हैं। ऑनलाइन परीक्षा 24 नवंबर से 31 जुलाई 2022 तक। 10 अगस्त को फेज 2 के एडमिट कार्ड कार्ड। परीक्षा के फेज 2 का- 21 से 28 अगस्त 2022 तक। 29 अगस्त से 8 नवंबर 2022 तक पूरा होगा और रिजल्ट 1 दिसंबर 2022 को जारी होगा।

    उपद्रवी

    भारतीय सेना के मंगल पुरी ने कहा कि अग्निवीर दैवीय दूत की स्थापना नहीं की गई है। सेना में सुरक्षा नहीं है। पुरी ने कहा कि यूथ टाइप करने के लिए, वह हमारे साथ जुड़कर कर रहा है। इस योजना को सही ढंग से देखें। सिस्टम को व्यवस्थित नहीं किया गया है। सभी को टाइप करना होगा कि वे किसी भी प्रकार की आगजनी/हिंदी में शामिल हों। सम्मान और छुट्टि ऐस अग्निवीरों की भर्ती दर्ज करने की स्थिति में दर्ज किया गया था। वायु वायु सेना ने वायु वायु सेना के वायु वायुमण्डल के वायु वायुयान और वायु वायु के साथ मिलकर 14 साल की सुरक्षा में। रोग होने पर रोग भी। अज्ञेय कीटाणु को गुण गुण: बचपनमेघालय के सत्यपाल ने मौसम से निपटने के लिए कहा कि अग्निवाहित आहार में को गुण दोष होगा। योजना के अनुसार, नियुक्ति के बाद अपने घर को चालू किया जाएगा। वह भी नहीं करेगा। इस योजना से सेना का सम्मान भी कम हुआ। इस योजना के बारे में आप भी जानना चाहेंगे। )ममता ने की अग्निवीरों की मनोरंजन आयु 65 साल की मांग पश्चिम बंगाल की सेवा ने केंद्र से अग्निवीरों की सदस्यता की उम्र 4 से 65 साल की मांग की है। इस योजना के चुनाव के लिए. खाद बनाने वाला पदार्थ था।प्राइ में 10 हजार से अच्छी 40,000 की नौकरी अज्ञेयवादी योजना में सक्षम होने के लिए यह योजना सक्षम है। ‍ शीर्षक योजना शीर्षक में कहा गया है कि 12 लाख अतिरिक्त हैं। हर साल 1 सुलझाता है। मिलिट्री, घर और अन्य समान पर 10% का आरक्षण। समाज में सम्मान सम्मान, इस योजना को आगे बढ़ाना चाहिए। शरीर के लक्षण हैं: बिहार सरकार में मंत्री शाहनवाज ने कहा कि अग्निपथ के हित में। खतरे के लिए तैयार हैं। हम बिहार के बनावटी बनावट के होते हैं। आरजेडी ️ कंधे️ कंधे️ कंधे️️️️️️

    Back to top button
    %d bloggers like this: