POLITICS

उत्तराखंड हादसे का 10वां दिन:तपोवन से निकल रहे क्षत-विक्षत शव; DGP बोले-4 दिन में रेस्क्यू ऑपरेशन बंद करने पड़ेंगे

  • Hindi News
  • National
  • Uttarakhand NTPC Tapovan Tunnel Rescue Operation LIVE Update | Uttarakhand Chamoli Glacier Burst Latest Today News

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चमोली2 महीने पहले

फोटो रामगढ़ की नीमा कुमारी की है। नीमा अपने पति मिथिलेश कुमार की फोटो दिखा रही हैं, जो चमोली आपदा के दौरान लापता हो गए हैं। वे हादसे के वक्त तपोवन के NTPC प्रोजेक्ट में काम कर रहे थे।

चमोली आपदा में लापता हुए लोगों की तलाश में लगातार 10वें दिन रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इस बीच, उत्तराखंड के DGP अशोक कुमार ने 3-4 दिन में रेस्क्यू ऑपरेशन बंद करने के बयान पर सफाई दी है। उन्होंने कहा, ‘मैं ये साफ करना चाहता हूं कि जोशीमठ, रैणी और तपोवन में रेस्क्यू ऑपरेशन और स्थानीय लोगों की मदद करने का सिलसिला आगे भी जारी रहेगा। मैं पहले ये कहा था कि अगले 3-4 दिनों में इन इलाकों में मलबों के अंदर दबे शवों को निकाल लिया जाएगा, लेकिन ऑपरेशन तब तक जारी रहेगा जब तक अंतिम व्यक्ति तक मदद न पहुंच जाए।’

पहले कहा था, अब लोगों के जिंदा होने की आस नहीं

DGP ने सोमवार की शाम कहा था कि बचाव अभियान दिन-रात चल रहा है, लेकिन अब लोगों के जिंदा होने की आस नहीं है। ऐसे में रेस्क्यू ऑपरेशन 3-4 दिन से ज्यादा नहीं चलेंगे। हालांकि, साफ-सफाई का काम जारी रहेगा।

अब तक 58 लोगों के शव बरामद

SDRF की DG रिद्विमा अग्रवाल ने बताया कि अब तक 58 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं। इनमें 31 की पहचान हो चुकी है। बाकी शवों के DNA सैंपल लिए गए हैं। इससे लोगों की पहचान की जाएगी। उधर, चमोली की डीएम स्वाती भदौरिया ने भी रेस्क्यू ऑपरेशन का जायजा लिया। उन्होंने सभी 4 जगहों पर रेस्क्यू में जुटे अफसरों से प्रोग्रेस रिपोर्ट ली।

SDRF ने रैणी गांव में लगाया अलार्म सिस्टम

स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (SDRF) ने रैणी गांव के पास अलार्म सिस्टम लगा दिया है। यह ऋषिगंगा और धौलीगंगा नदी का जलस्तर बढ़ते ही गांव वालों को अलर्ट कर देगा, ताकि समय रहते आस-पास के इलाकों में रहने वालों को सुरक्षित बाहर निकाला जा सके।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: