POLITICS

उत्तराखंडः कल्याणी नदी पर बना जुगाड़ पानी में बहा, 9 माह पहले ध्वस्त हुआ था पक्का पुल पर नहीं जागी धामी सरकार

बता दें कि कल्याणी नदी का जलस्तर बढ़ने की वजह से नदी के किनारे बसे घरों में पानी घुस गया है। वहीं नदीं में फेंका गया कूड़ा भी जमा हो गया है।

उत्तराखंड के रुद्रपुर में कल्याणी नदी पर बना अस्थायी बांस का पुल पहली बारिश में बह गया। बता दें कि इस पुल के जरिए शिवनगर से रविंद्रनगर के बीच आवागमन होता था। इस अस्थायी पुल के बहने के चलते लोगों का आवागमन भी बाधित है। दरअसल लोगों ने चंदा इकट्ठा कर इस बांस के पुल का निर्माण कराया था।

मदद न मिलने पर स्थानीय लोगों ने खुद चंदा इकट्ठा किया: दरअसल इससे पहले रविंद्र नगर और शिवनगर को जोड़ने वाले पक्के पुल का निर्माण हुआ था लेकिन 9 महीने पहले आई आपदा में वह बह गया था। आरोप है कि इसके बाद भी पुष्कर सिंह धामी की सरकार ने इसे संज्ञान में नहीं लिया। कल्याणी नदी में उफान आने से स्थायी पुल टूटने के बाद भी जिला प्रशासन और नगर निगम की तरफ से मदद नहीं मिली। इसके बाद स्थानीय लोगों ने खुद चंदा इकट्ठा कर बांस का अस्थायी पुल बनाया था। इसी के सहारे लोग आवागमन कर रहे थे।

स्कूली बच्चे भी इसी के जरिए कल्याणी नदी पार कर रहे थे। लेकिन यह अस्थाई पुल भी कल्याणी नदी के बहाव को झेल न सका। जिसके चलते अब लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बता दें कि कल्याणी नदी का जलस्तर बढ़ने की वजह से नदी के किनारे बसे घरों में पानी घुस गया है। वहीं नदीं में फेंका गया कूड़ा भी जमा हो गया है।

आश्वासन मिला लेकिन पूरा नहीं हुआ: आरोप है कि पुल के इंतजाम के लिए कई जनप्रतिनिधियों से मांग हुई। उनकी तरफ से आश्वासन तो मिला लेकिन किसी का वादा पूरा नहीं हुआ। लोग पुल न होने के चलते परेशानी में गुजारा करते रहे। वहीं विधायक शिव अरोरा की तरफ से भी पुल निर्माण को लेकर लोनिवि निर्देश दिए गए थे। लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के चलते लोगों को स्थायी पुल न मिल सका।

ऐसे में नदी किनारे रहने वाले लोग कूड़े में फंसे पुल की लकड़ियों को निकालने का काम में लगे रहे, ताकि पानी कम होने के बाद फिर से अस्थाई पुल का इंतजाम कर सकें।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: