LATEST UPDATES

आज के समय तक भैय्या के मुहूर्त, इन द दैव से दूर भाई के हर अडच

भाई दूज 2022 तिलक का समय: दिवाली पर्व के आखिरी दिन भाई दूज का पर्व शुभ है। भाई दूज का पर्व तिथि तिथि समाप्त होने के बाद तिथि समाप्त होने के बाद तिथि समाप्त हो जाएगी। 🙏 साथ ही भाई भी मिलेंगे। इस साल 25 साल के दिन 25 साल के लिए सूर्य के पूजा करने के बाद पूजा करें और पूजा करें। ऐसे में 26 एक्ट्बूर को गोइंग के दिन भी भाई दूज का त्योहार है। लेकिन ऐसे जो आज 27 ऑक्टोब को भाई दूज का त्योहारी त्योहार है। 26 को सुबह 02 बजकर 43 से 27 अगस्त को दोपहर 12 बजकर 45 मिनट तक.12 बजकर 45 के अपडेट की तारीख शुरू हो जाएगी। दूज के दिन कुछ विशेष उपाय आपके भाई के जीवन में आने वाले सभी शैतानों को दूर कर सकते हैं। विवाह के बारे में –

भाई दूज के उपे)

तिलक समय इस समय इस समय होने वाला है भाई का मुख- तिलक इस बात का खास खास है। इस दिन यह भी रहेगा। गर्मी में ऐसा ही होता है I

कमल की पूजा- भाई दूज के दिन कमल के फूल की पूजा करना शुभ है। इस ईश्वरीय व्यवस्था से परिपूर्ण व्यवस्था और भाऊ को उपहार में देना चाहिए।

यमुना स्नान- 🙏 ️ छिड़क

गोमती चक्र पर ये- साथी है कि भाई दूज के गोमती चक्र पर और चंदन से ह्रीं श्री ‘श्री पूजा में शामिल हों। पूजा के समय 14. Vababataana है कि इससे धन की कमी कमी कमी नहीं नहीं नहीं नहीं नहीं नहीं नहीं नहीं कमी कमी कमी कमी कमी कमी कमी कमी कमी कमी कमी कमी की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की धन धन धन धन धन धन धन धन घुमाती हैं, भाई दूज के दिन भाई को तिलक की परंपरा है। उस दिन तिलक में लगा हुआ इष्टगंध का तिलक लगाने से यह अच्छा होता है। पर्यावरण के अनुकूल होने के साथ ही यह भी भिन्न होता है।

दक्षिणाधुमी दीपक जलएं- भाई दूज) दक्षिणायन में दक्षिण दीप जलाती है। इस दीप प्रज्वलन के तेल से जलाएं। अपने से भाई और उसके जीवन की सभी दूरी और अडिग दूर हो रहे हैं।

Back to top button
%d bloggers like this: