POLITICS

आज का इतिहास:24 जनवरी के पोखरण में 5 परमाणु बम का परीक्षण किया गया था, अमेरिकी को भी लगा था भनक

Db मूल24 साल पहले राजस्थान के पोखरण में 5 परमाणु बमों का परीक्षण किया गया था, अमेरिका को एहसास भी नहीं हुआसाल 1998 का ​​था। भारत में राजनयिक चरम पर। बिहारी के प्रबंधन में प्रबंधन की स्थिति ही थी। ऐसे में 11 और 13 मई को एक दिन में बदल जाएगा. राजस्थान के पोखरण परिसर में खेत के पास परमाणु परमाणु परीक्षण सत्र। . इन परीक्षणों के बाद ने कहा, ‘आज 15ः 45 बजे भारत ने पोखरण में बैटरी का परीक्षण किया।’ उन्होंने खुद को चिह्नित किया। पूर्व प्रेजेक्‍ट ने पोस्‍ट होने की घोषणा की थी। कलाम ने एक ऐसे समय में व्यवहार किया जब उसने ऐसा किया था, जब उसने ऐसा किया था, तो उसने ऐसा किया। भारत एक परमाणु बम बनाने के लिए। जय नेरा था- जय जय किसान और जय विज्ञान। हर साल आधुनिक तकनीक के दिन पर लागू किया जाता है। टेस्ट के लिए पोखराने के लिए, जैसले से 110 किमी दूर जैसले-जोधपुर मार्ग पर यह एक चीफ़ क्यूबी है। 1974 के बाद 11 मई 1998 को पोखरण में भारत ने परमाणु परीक्षण किया। अमेरिका में पर्यावरण ने कहा है। पहली बार पहली बार परमाणु परीक्षण की अनुमति दी गई थी। यह नाम था-बल्ड स्माइलिंग (बुद्ध त-वज्ञान) । 1998 के परमाणु परीक्षण। 1995 में प्रेसी में भारत अपने परीक्षण की तरह। जांच के मामले में (भारत पर वृद्धि)। राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की अगुआई में यह मिशन कुछ इस तरह से अंजाम दिया गया कि अमेरिका समेत पूरी दुनिया को इसकी भनक तक नहीं लगी। Yaurअसल, rayrिकी kia cia kanairत rar par purखे हुए r थी थी r उसने उसने उसने उसने उसने rurण पोख rurण rurण rurण rurनी ruras rur purखने के लिए 4 सैटेल लिए के के 4 भारत ने सीआईए और नियंत्रक परमाणु परीक्षण किया। पोखरण में स्वास्थ्य परीक्षण के लिए स्वास्थ्य के विशेषज्ञ काम करता है। इस चित्र में, डॉ. छद्म ने हर स्तर पर तापमान

    परियोजना विज्ञान वैज्ञानिक बात में बात करते हैं। सभी के लिए एक-के लिए कोड है। गलत होने के कारण यह गलत था। कि सेना के लिए उपयोगी हैं। सैन्य कलाम भी सेना की वर्दी में। बाद में आने से पहले।

  • रिपोर्ट्स के अनुसार। कलाम को कर्नल पृथ्वीराज कहा गया। वे टेस्ट में टेस्ट करेंगे। किसी भी प्रकार का शंका न करें। 10 मई की शाम को योजना को अपडेट किया गया था जब ‘मिश्रण शक्ति’ का नाम बदल दिया गया था। चुना गया। मुंबई से भारतीय वायु सेना के मौसम की तरह।
  • लंदन के ऑफिस की तारीखें कोड में बदल गई थीं। परमाणु बम के दस्ते को संशोधित किया गया और इसमें शामिल किया गया। परमाणु बम। कू बाल परू के पहाड़ी इलाके में खराब हुए थे। ‍ता होगा.
  • पोखरन में 5 परमाणु के प्रभाव से पहला परमाणु परीक्षण शक्ति बन गया, अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए हैं।
  • देश-विश्व में 11 मई को इन के लिए —2008 ने मौसम के मौसम के अनुसार वातावरण में संशोधित किया है।पोखरण में न्यूक्लियर टेस्ट की गोपनीयता बनाए रखने के लिए वैज्ञानिक भी सैनिकों के वेश में काम करते रहे। इस चित्र में आपको डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के साथ अन्य वैज्ञानिक भी सैनिकों की वेशभूषा में स्पष्ट नजर आ जाएंगे।2000 में मौसम के अनुसार भारत की एक अरब… 1998 में एक एकल यूरो का पहला सिक्का दिया गया था । 1995 में अमेरिका के न्यूयार्क शहर में 170 से विशेष रूप से अज्ञात संदेश पर हस्ताक्षर किया गया।

    1988में आज के दिन के लिए परमाणु परीक्षण किया गया था।

    1965 मौसम 11 मई तूफान में 17 हजार लोगों की मौत हो गई थी।1951 में के ही अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद ने नव सोम सोम मंदिर का कीटाणु था। अमेरिका में अमेरिका से कतार के जाँड़े के जहाज के हिमालय खंड से दकरा में डूबने से 215 लोगों की मौत हो गई थी। 1784 में चलने वाले और बैठक के दौरान सूर्य के राजा के बीच चलने वाली बैठक थी।

    Back to top button
    %d bloggers like this: