POLITICS

आज का इतिहास:आज वर्ल्ड अल्जाइमर्स डे यानी बुजुर्गों के भूलने की बीमारी को लेकर जागरूकता बढ़ाने का दिन, भारत में 2 करोड़ से ज्यादा बुजुर्ग इस बीमारी के शिकार

  • Hindi News
  • National
  • Today History Aaj Ka Itihas 20 September | Manipur Became Part Of India And World Alzheimer’s Day

आज वर्ल्ड अल्जाइमर्स डे है। पूरी दुनिया में हर साल इस बीमारी के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए 21 सितंबर को इस दिन को मनाया जाता है। अल्जाइमर्स में दिमाग में होने वाली नर्व सेल्स के बीच होने वाला कनेक्शन कमजोर हो जाता है। धीरे-धीरे यह रोग दिमाग के विकार का रूप लेता है और याददाश्त को खत्म करता है। व्यक्ति सोचना भी बंद कर देता है और रोजाना के कामकाज करने में भी कठिनाई आने लगती है।

अल्जाइमर मुख्य रूप से डिमेंशिया का ही एक रूप है। इससे पीड़ित लोगों को भूलने की आदत हो जाती है। इस वजह से वे 1-2 मिनट पहले हुई बात को भी भूल जाते हैं।

1906 में डॉ. एलोइस अल्जाइमर ने इस रोग के बारे में पता लगाया था, इस वजह से इस बीमारी को उन्हीं के नाम पर जाना जाता है। उन्होंने मानसिक रोग से पीड़ित एक महिला के दिमाग में कोशिकाओं में बदलाव नोटिस किया था। महिला के दिमाग की स्टडी में पाया कि उसमें कुछ गांठ पड़ गई हैं। इसकी शुरुआत किसी आम समस्या की तरह होती है, लेकिन धीरे-धीरे ये गंभीर रूप ले लेती है।

आम तौर पर अल्जाइमर वृद्धावस्था में होता है। यह 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को ज्यादा प्रभावित करता है। बहुत ही कम केसेस में 30 या 40 की उम्र में लोगों को ये बीमारी होती है। पुरुषों में जहां 60 वर्ष की अवस्था में अल्जाइमर की शिकायत शुरू होती है, वहीं महिलाओं में इसके लक्षण 45 वर्ष की अवस्था में दिखते हैं।

समय के साथ-साथ इस बीमारी से प्रभावित मरीज के दिमाग का ज्यादातर हिस्सा डैमेज होने लगता है और फिर एक समय ऐसा आता है कि उसे कुछ भी याद नहीं रहता।

1949: मणिपुर का भारत में विलय

15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश राज खत्म होने से कुछ दिन पहले ही मणिपुर के राजा ने 11 अगस्त को भारत का शासन स्वीकार कर लिया था, पर राज्य ने अंदरूनी संप्रभुता हासिल कर ली थी। मणिपुर स्टेट कांस्टीट्यूशन एक्ट 1947 लागू हुआ, जिससे राज्य को अपना अलग संविधान मिला। मणिपुर में कई लोग भारत में विलय चाहते थे। मणिपुर इंडिया कांग्रेस भी बनी। भारत सरकार ने अलग संविधान को मान्यता नहीं दी।

मणिपुर को पोलो खेल का जनक भी कहा जाता है। ‘सागो कांगजेई’ नामक एक पारंपरिक मणिपुरी खेल से ही पोलो का जन्म हुआ है।

मणिपुर को पोलो खेल का जनक भी कहा जाता है। ‘सागो कांगजेई’ नामक एक पारंपरिक मणिपुरी खेल से ही पोलो का जन्म हुआ है।

आखिर, महाराजा पर दबाव बना और उन्होंने 21 सितंबर 1949 को भारत सरकार के साथ मर्जर एग्रीमेंट साइन किया। यह एग्रीमेंट 15 अक्टूबर को लागू हुआ। कई सालों तक केंद्र का सीधा शासन यहां रहा, लेकिन 1972 में मणिपुर को भारत में अलग राज्य का दर्जा मिला।

आज अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस

1981 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इंटरनेशनल डे ऑफ पीस की स्थापना की थी। दो दशक बाद 2001 में महासभा ने सर्वसम्मति से इस दिन को 24 घंटे अहिंसा और सीजफायर की अवधि के तौर पर मनाने का फैसला किया। यूनाइटेड नेशंस सभी राष्ट्रों और लोगों को अहिंसा का महत्व बताने के लिए यह दिन मनाता है। इस दिन शांति के आदर्शों को मजबूती दी जाती है।

यह दिन महात्मा गांधी की अहिंसा की सीख को याद करने का दिन भी है। इस साल इंटरनेशनल डे ऑफ पीस की थीम है- रिकवरिंग बेटर फॉर एन इक्विटेबल एंड सस्टेनेबल वर्ल्ड। वैसे, यह दिन सिर्फ बाहरी शांति ही नहीं, बल्कि अंदरूनी शांति की भी बात करता है।

ग्राफिक

शांति मंत्र

ॐ द्यौ: शान्तिरन्तरिक्षॅं शान्ति:,

पृथ्वी शान्तिराप: शान्तिरोषधय: शान्ति:।

वनस्पतय: शान्तिर्विश्र्वे देवा: शान्तिर्ब्रह्म शान्ति:,

सर्वशान्ति:, शान्तिरेव शान्ति:, सा मा शान्तिरेधि।।

ॐ शान्ति: शान्ति: शान्ति:।।

यजुर्वेद से लिया गया यह शांति मंत्र कहता है कि पृथ्वी, अंतरिक्ष, जल, औषध, वनस्पतियों, विश्व में शांति हो, चारों ओर शांति ही शांति हो।

21 सितंबर के दिन को इतिहास में और किन-किन महत्वपूर्ण घटनाओं की वजह से याद किया जाता है…

2018: भारत ने यूएन महासभा के दौरान पाकिस्तान के साथ विदेश मंत्री स्तर की बातचीत रद्द कर दी थी। दरअसल, कश्मीर में भारतीय सीमा पर एक जवान की हत्या कर दी गई थी और पाकिस्तान आतंकियों का महिमा मंडन कर रहा था। इससे ही भारत नाराज था। कहा गया कि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते।

2013: केन्या के नैरोबी में वेस्टगेट मॉल पर अल-शबाब आतंकी समूह के सदस्यों ने हमला किया था। कुछ घंटों तक चली मुठभेड़ में आतंकियों ने 63 शॉपर्स की हत्या कर दी थी। केन्या के सुरक्षा बलों ने बंधकों को रिहा किया और चार आतंकियों को भी मार गिराया।

2008ः रिलायंस के कृष्णा गोदावरी बेसिन में तेल उत्पादन शुरू हुआ।

2004: ग्लोबल फैसलों में अपना प्रभाव बढ़ाने के लिए ब्राजील, भारत, जर्मनी और जापान ने मिलकर यूएन सिक्योरिटी काउंसिल की स्थायी सीट के लिए प्रयास करने की ठानी। सबने मिलकर यूएन सुधारों पर काम करने का संकल्प लिया।

2000ः भारत और ब्रिटेन के बीच बेहतर संबंध के लिए लिबरल डेमोक्रेटिक फ्रेंड्स ऑफ इंडिया सोसायटी की स्थापना।

1996: प्रेसिडेंट बिल क्लिंटन ने डिफेंस ऑफ मैरिज एक्ट पर साइन किए। इसमें सेम सेक्स मैरिज को मान्यता न देने का प्रावधान था, लेकिन इस आधार पर उनके साथ भेदभाव नहीं किया जा सकता था। यूएस सुप्रीम कोर्ट ने 2013 और 2015 में फैसलों से इसे रद्द कर दिया।

1991ः आर्मेनिया को सोवियत संघ से स्वतंत्रता मिली।

1984ः ब्रुनेई संयुक्त राष्ट्र में शामिल हुआ।

1979: अपनी धमाकेदार बैटिंग के लिए मशहूर वेस्ट इंडीज के क्रिकेटर क्रिस गेल का जन्म हुआ।

1966ः मिहीर सेन ने बासफोरस चैनल तैरकर पार किया।

1964: दक्षिण यूरोपीय द्वीपीय देश माल्टा को अंग्रेजों ने 1814 में पेरिस संधि के तहत अपनी कॉलोनी बनाया था। देश ने 1964 में 21 सितंबर को आजादी हासिल की। पहले तो इंग्लैंड की महारानी को राष्ट्र प्रमुख के तौर पर स्वीकार किया, लेकिन 13 दिसंबर 1974 को खुद को रिपब्लिक घोषित किया।

1961: अमेरिका में बने बोइंग सीएच-47 चिनूक ने पहली बार उड़ान भरी। इसका इस्तेमाल इराक और अफगानिस्तान के युद्धों में बड़े पैमाने पर अमेरिकी फौजों ने किया।

1784ः अमेरिका में पहली बार दैनिक अखबार (पेनसिल्वेनिया पैकेट एंड जनरल एडवरटाइजर) छपा।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: