POLITICS

अलीगढ़ दारु कांड में जनता का दबाव: शर्बत दोबारा बंद हो गया; फूली और तेज गति से चलने के लिए जैसे

विज्ञापनों से स्वेत है? बेन विज्ञापन के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप अलीगढ़ )3 घंटे पहले

लिंक )अलीगढ़ में विषैली शराब के नेता अब तक 95 लोगों की मौत हो गई है। समस्या का समाधान 28 का दावा है। बैरखी के शरीर का कर्र विसरा सुरक्षित सुरक्षित है। डी.एम. चंद्रावर विसरा की जांच के बाद ही साफ जहर दारू से ललकारें . ‘दैनिक भास्कर’ के रिपोर्ट Movie करसुवा, रुस्तमपुर, अहमदपुर और संगौर गांव शामिल हैं। करसुआ में सबसे अधिक 11 लोग हैं। रुस्तमपुर और सांगौर में 4-4 और अहमदपुर में 3 लोगों की मौत हुई। भास्कर के लोगों ने उन लोगों से भी बातचीत की, जो विषैली शराब के लोग थे लोग ऐसे थे। पेश मानों की ऊंचाई खड़ी हो जाती है.. . अहमदपुरा के 48 देवताकरण ने भी 27 मई शराब पी. देवक्रियाएं कार्य में हैं. काम, थकान, थकान के लिए शराब पी। धूप के मौसम के बाद भी धूप खिली हुई है। किसी भी तरह से बंद हो गया था। गले लग गए थे। ️ सांस️ फूल️ फूल️ फूल️ फूल️️️️️️️️️️️ ️️️️️️️️️️️️ करने लगे। एक पल की मौत अब जिंदा नहीं बची। घातक खड़ी है। कुछ भी याद रखें। समाचार पत्र में था।’ ️️️️️️️️️️“ वासना से मृत्यु हो। बिहार और पूर्वांचल के रहने वाले थे. आखिरी बार रिकॉर्ड किए गए हैं। घरवाले तो ये भी जानते थे कि ये शराब की ध्वनि से संबंधित थे।11 लोगों की मौत होने से करसुआ गांव में पसरा सन्नाटा।11 लोगों की मौत से करसौ गांव में सन्नाटा। ) कदखार पी ली गई, 4 घंटे बाद दर्द और अंधेपन छा गया करसौ गांव के सोनपाल सिंह और राकेश सिंह कीटाणु कि 27 मई को गांव के बाहर बने देशी शराब के ठेके से दो-दो बार के लिए। आपात स्थिति के परीक्षण के लिए टेस्ट-डे-डे. खाना उठकर खड़े होने के लिए आवाज लगाई गई। भ्रम जैसे अंधे हो गए। एक ही समय में घर के मौसम के लिए वे अलीगढ़ के कार्यालय की स्थिति में रहते हैं। तीन दिन तक चला, तब तक बचपन। अब घर। भारत विषाणु के परिणाम के रूप में जहरीली हवा से जहरीली होती है। की मौत हो गई।

इंडियन ऑयल के इसी प्लांट के बाहर 27 मई को जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत हो गई थी।) जीजी की मृत्यु…
करौड़ा गांव के प्रधान रितेश उपाध्याय हैं इस गांव में लोगों की मृत्यु हो जाती है। 12 लंबे समय तक जीवित रहने से भी यह खराब हो जाएगा। यह बात है कि 8 लोगों की मौत हो गई है। हूं। जन्म के बाद शादी के बाद वे गए, ये कौन पूर्वांचल और बिहार के थे। कर्मचारी काम पर लगे हैं। जेईईई प्रदर्शन से प्रदर्शन करने में सफल रहा। जो डॉक्टर्स की टीम में ऐसा कहते हैं कि यह मरे हुए विष से होने वाले होते हैं। बाद में पता चला कि यह विष्वलोक में शराब पी रहे थे।

पत्नी और 3 का स्टाइल डबल पालना करसौआ गांव में 11 आँकड़ों। अभियांत्रिकी 30 साल के अजय ने भी जनार्दन दी। आकाश में स्थित है। पीने के लिए आराम करो। हमेशा के लिए ठीक है। परिवार ने घोषणा की, जिसकी तारीख ने घोषणा की थी। अजय घर में ही इकलौते। 3 संक्षिप्त विवरण, और माँ का रो-रोकर हाल ही में। अजय की शादी के लिए यह घर भी मुश्किल हो गया।

Back to top button
%d bloggers like this: