POLITICS

अग्निपथ योजनाः MPs-MLAs को Pension तो फिर सैनिकों को क्यों नहीं?

अग्निपथ योजना के विरोध में देश भर के युवा सड़कों पर उतर आए हैं। कई राज्यों में ट्रेनों को जला दिया गया है।

देश में मोदी सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर बवाल मचा हुआ है। छात्र सड़कों पर उतर आएं हैं और सरकार के खिलाफ विरोध का बिगुल फूंक दिया है। कई राज्यों में आगजनी की खबरें हैं। छात्रों का कहना है कि सरकार उनके साथ छल कर रही है। इसी मामले को लेकर चल रहे एक टीवी प्रोग्राम में भाजपा सांसद कर्नल (रि.) राज्यवर्धन सिंह राठौर को छात्रों ने घेर लिया और जमकर कड़े सवाल पूछे।

न्यूज 24 पर चल रहे इस कार्यक्रम में एक छात्र ने जब बीजेपी नेता से पूछा कि सांसद-विधायक जितनी बार चुने जाते हैं, उतनी बार उनको पेंशन मिलती है, फिर छात्रों के साथ ये खिलवाड़ क्यों? इस सवाल के जवाब में राठौर थोड़े तल्ख दिखे।

उन्होंने कहा- “ये जिन्होंने प्रश्न पूछा, उनको विधायक के लिए या सांसद के लिए रोक नहीं रहा है, खड़े रहने के लिए, कोई भी लड़ सकता है। अब मैं आपको बताता हूं, जो विधायक या सांसद की पेंशन है वो तो मात्र कुछ 1800 रुपये 1500 रुपये है। जो अग्निवीर बाहर जा रहा है वो 12 लाख रुपये लगभग लेकर चार साल की सर्विस के बाद यानि 12 साल की उम्र में उसके पास 12 लाख रुपये होंगे।”

हालांकि राज्यवर्धन सिंह के इस तर्क से ना तो छात्र सहमत दिखे ना ही एंकर। छात्रों का कहना है कि चार साल की नौकरी में एक साल ट्रेनिंग और एक साल तो समझने में ही बीत जाएगा। फिर दो साल बाद छात्र क्या करेंगे? एंकर संदीप चौधरी ने भी सवाल उठाते हुए कहा कि चार साल बाद जब वो 12 लाख लेकर निकलेगा जो 12th पास है, उसको डिप्लोमा मिल जाएगा, उससे क्या बड़ा परिवर्तन आ जाएगा? कहीं फिर उसे गार्ड की नौकरी या ड्राइवर की नौकरी करनी पड़ेगी?

इस सवाल के जवाब में भाजपा सांसद ने कहा कि पढ़ाई करने में तो ऐसे भी टाइम लगता है। 12 लाख रुपये से वो अपना बिजनस शुरू कर सकता है। आगे की पढ़ाई कर सकता है। इसके आधार पर लोन भी मिल सकता है।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: